Q3 GDP DATA: ईकोनॉमी के मोर्चे पर आई गुड न्यूज, तीसरी तिमाही में 0.4 फीसदी रही जीडीपी ग्रोथ

आंकड़ों से साफ है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अब मंदी के दौर से निकल आई है.

आंकड़ों से साफ है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अब मंदी के दौर से निकल आई है.

वित्त वर्ष (2020-21) की दो तिमाहियों के दौरान कोरोना वायरस महामारी की वजह से जीडीपी में बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2021, 6:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने शुक्रवार शाम को इस वित्त वर्ष (2020-21) की दिसंबर में खत्म होने वाली तीसरी तिमाही के लिए ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट यानी जीडीपी (GDP) के आंकड़े को जारी किया. भारत की अर्थव्यवस्था की ग्रोथ अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में पहले से बेहतर रही. तीसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 0.4 फीसदी रही. इससे पहले की दो तिमाहियों के दौरान कोरोना वायरस महामारी की वजह से इसमें बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी.

मंदी से बाहर निकली भारतीय अर्थव्यवस्था
आंकड़ों से साफ है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अब मंदी के दौर से निकल आई है. दो तिमाही के बाद जीडीपी ग्रोथ पॉजिटिव जोन में आई है. 26 फरवरी को नेशनल स्टैटिस्टिकल ऑफिस (NSO) ने आंकड़े जारी किए हैं.

ये भी पढ़ें- किसानों के लिए खुशखबरी: इस खेती के लिए आधे पैसे देगी सरकार, लाखों कमाने का मौका
2020-21 में जीडीपी में 8 फीसदी की गिरावट का अनुमान


एनएसओ के राष्ट्रीय लेखा के दूसरे अग्रिम अनुमान में 2020-21 में जीडीपी में 8 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया गया है. जनवरी में एनएसओ ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 में अर्थव्यवस्था में 7.7 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया था.



दूसरी तिमाही में 7.5 फीसदी की हुई थी गिरावट
भारत की जीडीपी में पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान 24 फीसदी और दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में 7.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी. हाल ही में डीबीएस की ताजा रिपोर्ट में कहा गया था कि तीसरी तिमाही में यह सकारात्मक हो जाएगी और इसमें 1.3 फीसदी की वृद्धि होगी.

ये भी पढ़ें- PM Kisan: 10.75 करोड़ किसानों को मिले 1.15 लाख करोड़ रुपये, अगली किस्त के लिए फटाफट कराएं रजिस्ट्रेशन

गौरतलब है कि चीन की अर्थव्यवस्था में अक्टूबर-दिसंबर, 2020 में 6.5 फीसदी की वृद्धि हुई थी. वहीं जुलाई-सितंबर में वृद्धि दर 4.9 फीसदी रही थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज