इकोनॉमी के लिए राहत भरी खबर, नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन हुआ दोगुना

सरकार को टैक्स कलेक्शन के मामले में अच्छी सफलता मिल रही है.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने बुधवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष (FY22) में अब तक नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 1.85 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना संकट के बीच इकोनॉमी के लिए राहत भरी खबर मिली है. चालू वित्त वर्ष में टैक्स कलेक्शन में तेज बढ़त दर्ज हुई है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021-22 में अब तक नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन (Net Direct Tax collections) दोगुना से ज्यादा होकर 1.85 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया. नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में शामिल कॉर्पोरेट इनकम टैक्स (Corporate Income Tax) कलेक्शन 74,356 करोड़ रुपये जबकि सिक्योरिटी ट्रांजैक्शन टैक्स (Security Transaction Tax) समेत पर्सनल इनकम टैक्स 1.11 लाख करोड़ रुपये रहा.

    सीबीडीटी ने एक बयान में कहा कि वापस की गई टैक्स राशि को हटाकर नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन एक अप्रैल से 15 जून के बीच 1,85,871 करोड़ रुपये रहा जबकि पिछले साल इसी अवधि में यह 92,762 करोड़ रुपये था. यानी पिछले साल के मुकाबले इसमें 100.4 फीसदी की वृद्धि हुई है.


    चालू वित्त वर्ष में अबतक 30,731 करोड़ रुपये टैक्स वापस किए गए हैं. मौजूदा वित्त वर्ष में अब तक ग्रॉस डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 2.16 लाख करोड़ रुपये रहा जो पिछले साल इसी अवधि में 1.37 लाख करोड़ रुपये था.

    ये भी पढ़ें- किसानों को बड़ी राहत! मोदी सरकार ने DAP पर बढ़ाई ₹700 सब्सिडी, अब इतने रुपये में मिलेगी खाद

    बयान के मुताबिक, ग्रॉस कॉर्पोरेट इनकम टैक्स  96,923 करोड़ रुपये जबकि पर्सनल इनकम टैक्स  1.19 लाख करोड़ रुपये रहा. एडवांस टैक्स कलेक्शन 28,780 करोड़ रुपये जबकि टीडीएस 1,56,824 करोड़ रुपये रही. सेल्फ असेसमेंट टैक्स 15,343 करोड़ रुपये और रेगुलर असेसमेंट टैक्स 14,079 करोड़ रुपये रहा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.