• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • 2,000 रुपये के नोट को बंद करने पर सरकार ने दिया ये जवाब!

2,000 रुपये के नोट को बंद करने पर सरकार ने दिया ये जवाब!

2000 रुपये के नोट को बंद करने की फिलहाल कोई योजना नहीं

वित्त और कारपोरेट मामलों के राज्य मंत्री (Minister of State for Finance & Corporate Affairs) अनुराग सिंह ठाकुर ने मंगलवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के जवाब में कहा कि सरकार का फिलहाल 2,000 रुपये के नोट को बंद करने की कोई योजना नहीं है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. सरकार का 2,000 रुपये के नोट (Currency Notes) को बंद करने का कोई प्लान नहीं है. वित्त और कारपोरेट मामलों के राज्य मंत्री (Minister of State for Finance & Corporate Affairs) अनुराग सिंह ठाकुर ने मंगलवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के जवाब में कहा कि सरकार का फिलहाल 2,000 रुपये के नोट को बंद करने की कोई योजना नहीं है.

    दरअसल, उनसे पूछा गया था कि क्या सरकार चरणबद्ध तरीके से 2,000 रुपये के नोट को बंद करने जा रही है, अनुराग ठाकुर ने इसी के बारे में जवाब दिया. बता दें कि मोदी सरकार ने 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी का फैसला करते हुए 500 रुपये और 1000 रुपये के पुराने नोट को चलन से बाहर कर दिया था. वहीं, 500 और 2000 रुपये के नए नोट को जारी करने का फैसला किया था.

    ये भी पढ़ें: सरकार की नई स्कीम में पैसा लगाकर आप भी कर सकेंगे कमाई, कैबिनेट ने दी मंजूरी

    रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की सालाना रिपोर्ट के आधार पर मंत्री ने कहा, 31 मार्च 2019 तक 2,000 रुपये के नोटों का सर्कुलेशन कुल नोटों के सर्कुलेशन का 31.18 फीसदी है. कुल नोटों के सर्कुलेशन का वैल्यू 21,109 अरब रुपये है और इसमें 2,000 रुपये के नोटों के चलन की वैल्यू 6,582 अरब रुपये है.

    नोटों के कुल सर्कुलेशन का 31.18 फीसदी नोट 2,000 रुपये के- रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की सालाना रिपोर्ट के आधार पर मंत्री ने कहा, 31 मार्च 2019 तक 2,000 रुपये के नोटों का सर्कुलेशन कुल नोटों के सर्कुलेशन का 31.18 फीसदी है. कुल नोटों के सर्कुलेशन का वैल्यू 21,109 अरब रुपये है और इसमें 2,000 रुपये के नोटों के चलन की वैल्यू 6,582 अरब रुपये है.

    ये भी पढ़ें: सोशल साइट और ऐप से अब नहीं चुरा पाएगा कोई भी आपकी निजी जानकारी, सरकार का फैसला 

    घट रहा 2000 रुपये के नोटों की जमाखोरी- इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पिछले तीन वित्तीय वर्षों में 5 करोड़ रुपये से अधिक नकद रुपये जब्त किए गए हैं. जब्त की गई कुल नकदी में से वित्त वर्ष 2017-18 में 2,000 रुपये के 67.91% नोट जब्त किए गए. 2018-19 में यह आंकड़ा 65.93% रहा, जबकि मौजूदा वित्त वर्ष में यह घटकर 43.22% पर आ गया.

    बता दें कि पिछले महीने भारत सरकार के आर्थिक मामलों के पूर्व सचिव एससी गर्ग ने कहा था कि 2,000 रुपये के नोट आसानी से बाजार से हटाए जा सकते हैं. उन्होंने दावा किया कि लोगों ने 2 हजार के नोट जमा कर लिए हैं, जिसकी वजह से अब ये ज्यादा चलन में नहीं हैं.

    ये भी पढ़ें: 50 हजार में शुरू करें ये खास बिजनेस, पैसा जुटाने में सरकार करेगी आपकी मदद

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज