Home /News /business /

Post Office की इस योजना में निवेश पर दोगुना हो जाएगा पैसा, डूबने का भी खतरा नहीं, जानें पूरी डिटेल्स

Post Office की इस योजना में निवेश पर दोगुना हो जाएगा पैसा, डूबने का भी खतरा नहीं, जानें पूरी डिटेल्स

देशभर के पोस्ट ऑफिस और बड़े बैंकों के जरिये आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं.

देशभर के पोस्ट ऑफिस और बड़े बैंकों के जरिये आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं.

Post Office Investment Scheme : घटती ब्याज दरों के बीच अगर आप पैसा दोगुना करना चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की इस योजना में निवेश कर सकते हैं. इसमें 124 महीने आपका पैसा दोगुना हो जाता है. इस योजना के लिए ब्याज दर 6.9 फीसदी तय की गई है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. लगातार घट रही ब्याज दरों के बीच अगर आप अपना पैसा दोगुना करना चाहते हैं तो किसान विकास पत्र (KVP) योजना में निवेश कर सकते हैं. पोस्ट ऑफिस की इस योजना में न सिर्फ आपका पैसा सुरक्षित रहता है, बल्कि मैच्योरिटी पर यानी 124 महीने (10 साल 2 महीने) में दोगुना पैसा भी मिलता है. इस योजना के लिए ब्याज दर 6.9 फीसदी तय की गई है.

किसान विकास-पत्र एक एकमुश्त योजना है, जिसे भारत सरकार चलाती है. यह मुख्य रूप से किसानों और कम आय वाले लोगों के लिए है, ताकि वे अपने पैसे को लंबे समय तक बचा सकें. इसमें बड़ी रकम से निवेश की शुरुआत करना जरूरी नहीं है.

ये भी पढ़ें- RBI के डिप्टी गवर्नर ने क्रिप्टोकरेंसी को बताया पोंजी स्कीम से बदतर, कहा- बैन करना ही शायद सबसे बेहतर विकल्प

1000 से शुरू कर सकते हैं निवेश
देशभर के पोस्ट ऑफिस और बड़े बैंकों के जरिये आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं. इसमें कम- से-कम 1,000 रुपये से निवेश शुरू कर सकते हैं, जबकि अधिकतम की सीमा नहीं है. अगर योजना में 50,000 रुपये निवेश करते हैं तो मेच्योरिटी पर एक लाख रुपये मिलेंगे.

2.5 साल बाद निकासी की सुविधा
किसान विकास पत्र एक सर्टिफिकेट के रूप में मिलता है. इसमें 1,000, 2,000, 5,000 , 10,000 और 50,000 रुपये तक के सर्टिफिकेट दिए जाते हैं, जिसके जारी होने के वक्त ब्याज दर तय की जाती है. हालांकि, उसमें सरकारी नियमों के मुताबिक बदलाव हो सकते हैं. वैसे तो केवीपी में मैच्योरिटी अवधि 124 महीने है, लेकिन जरूरत पड़ने पर आप 2.5 साल बाद भी निकासी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Petrol Diesel Prices Today: क्रूड ऑयल 7 साल के उच्चतम स्तर पर, जानिए पेट्रोल डीजल का हाल

इन डॉक्यूमेंट्स की पड़ती है जरूरत
केवीपी नियम के मुताबिक, इसे एक नाबालिग की ओर से कोई वयस्क और कमजोर दिमाग वाले व्यक्ति की ओर से एक अभिभावक खरीद सकता है. केवीपी खाता खोलने के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पासपोर्ट जैसे पहचान पत्र जरूरी है.

लॉकइन अवधि के बाद निकासी पर रिटर्न
समय (वर्ष में)  – रिटर्न (रुपये में)
2.5 साल बाद और 3 साल से पहले  – 1,154
5 साल बाद और 5.5 साल से पहले  – 1,332
7.5 साल बाद और 8 साल से पहले  – 1,537
10 साल बाद और मैच्योरिटी से पहले – 1,774
मैच्योरिटी (12 महीने) पर     – 2,000
(कैलकुलेशन 1,000 रुपये के निवेश पर)

जरूरत न हो तो मैच्योरिटी पर ही करें निकासी
निवेश सलाहकार स्वीटी मनोज जैन का कहना है कि यह भारत सरकार की योजना है. इसलिए इसमें निवेश पर कोई जोखिम नहीं रहता है. साथ ही मैच्योरिटी पर पैसा दोगुना हो जाता है. ध्यान देने वाली बात है कि 124 महीने से पहले अगर आप चाहें तो ढाई साल बाद भी निकासी कर सकते हैं. ऐसी स्थिति में आपको कम ब्याज मिलता है. इसलिए जरूरत न हो तो मैच्योरिटी पर ही निकासी करें.

Tags: Investment, Post Office

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर