घर खरीदारों के लिए बड़ी खुशखबरी: सालों से अटके फ्लैट्स का निर्माण कार्य पूरा, अप्रैल से होगी डिलिवरी..

Housing Projects

Housing Projects

हजारों घर खरीदारों और दिवालिया डेवलपर्स के लिए राहत भरी खबर है. रुकी हुई हाउसिंग परियोजनाओं को पूरा करने के लिए सरकार द्वारा तैयार किए गए 25,000 करोड़ रुपये की स्पेशल फंड की मदद से इस साल 4,000 फ्लैट्स की डिलिवरी हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2021, 10:54 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हजारों घर खरीदारों और दिवालिया डेवलपर्स के लिए राहत भरी खबर है. रुकी हुई हाउसिंग परियोजनाओं को पूरा करने के लिए सरकार द्वारा तैयार किए गए 25,000 करोड़ रुपये की स्पेशल फंड की मदद से इस साल 4,000 फ्लैट्स की डिलिवरी हो सकती है. SBICAP वेंचर्स लिमिटेड (SBICAP Ventures Ltd.) के मुख्य निवेश अधिकारी इरफान ए. काजी ने कहा कि 1 अप्रैल से शुरू होने वाले वित्तीय वर्ष में करीब 16 प्रोजेक्ट्स पर निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा. करीब 4,000 से अधिक घर डिलीवर किए जाएंगे. वहीं. दो परियोजनाएं इस साल अप्रैल अंत तक पूरी हो जाएंगी. बता दें कि फिलहाल 6,300 करोड़ डॉलर यानी लगभग 4.5 लाख करोड़ रुपये की हाउसिंग परियोजनाएं अटकी पड़ी हैं, जिनमें हजारों मकान खरीदार की कमाई भी फंसी हुई है.

NCR में 40% परियोजनाएं अटकी पड़ी है

ए. काजी के मुताबिक, रुकी हुई परियोजनाओं में सबसे ज्यादा करीब 40% राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में हैं। 25% के आसपास परियोजनाएं मुंबई मेट्रोपोलिटन रीजन (MMR) की हैं। वहीं, 85% के आसपास रुकी हुई परियोजनाएं देश के टॉप 7 शहरों की हैं. काजी ने कहा कि इस फंड के तहत 159 परियोजनाओं को मदद की मंजूरी मिल चुकी है, जिनमें 14,500 करोड़ रुपये का निवेश जुड़ा हुआ है. इन परियोजनाओं में एक लाख मकानों का निर्माण किया जाना है. इनमें से 47 परियोजनाओं को 5,000 करोड़ रुपये की मदद की अंतिम मंजूरी मिल चुकी है.
ये भी पढ़ें- हवाई सफर करने वालों के लिए जरूरी खबर, सरकार किराए समेत इन पाबंदियों को करेगी खत्म

मिलेंगे रोजगार के मौके भी..

वहीं, 112 परियोजनाओं की मंजूरी की प्रक्रिया अभी शुरुआती चरण में हैं. इन अटकी परियोजनाओं के निर्माण कार्य से अर्थव्यवस्था को भी आगे बढ़ने में मदद मिलेगी और नए रोजगार भी निकलेंगे.गौरतलब है कि महामारी के दौरान रियल एस्टेट सेक्टर बुरी तरह से प्रभावित हुई है. हालांकि, त्योहारी सीजन से सेक्टर में जबरदस्त डिमांड देखी जा रही है. ब्याज दरों में राहत स्टांप शुल्क में कटौती समेत अन्य कारणों के चलते सेक्टर में सुधार हुआ हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज