सरकार का बड़ा फैसला- ड्राइविंग लाइसेंस के ​वेरिफिकेशन के इस प्रोसेस पर लगाई रोक

केंद्र की मोदी सरकार ने आधार के इस्तेमाल के जरिए ड्राइविंग लाइसेंस (DL) के वेरिफिकेशन पर रोक लगाने का फैसला किया है. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को राज्यसभा इसकी जानकारी दी है.

News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 10:31 AM IST
सरकार का बड़ा फैसला- ड्राइविंग लाइसेंस के ​वेरिफिकेशन के इस प्रोसेस पर लगाई रोक
सरकार का बड़ा फैसला- ड्राइविंग लाइसेंस के ​वेरिफिकेशन के इस प्रोसेस पर लगाई रोक
News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 10:31 AM IST
केंद्र की मोदी सरकार ने आधार के इस्तेमाल के जरिए ड्राइविंग लाइसेंस (DL) के वेरिफिकेशन पर रोक लगाने का फैसला किया है. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को राज्यसभा इसकी जानकारी दी है. उन्होंने संसद में बताया कि मंत्रालय ने 26 सिंतबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश का पालन करते हुए ड्राइविंग लाइसेंस का आधार के जरिए वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को रोक दिया है. उन्होने आगे कि नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर द्वारा उपलब्ध कराई गई सूचना के मुताबिक, ड्राइविंग लाइसेंस के लिए 1,57,93,259 आधार नंबर प्राप्त हुए हैं. व्हीकल रजिस्ट्रेशन के लिए 1.65 करोड़ आधार नंबर मिले हैं. गडकरी ने कहा कि RTOs पर बायोमेट्रिक के कलेक्शन की प्रक्रिया बंद कर दी गई है.

क्यों लिया बंद करने का फैसला- सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी  का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ड्राइविंग लाइसेंस के ​वेरिफिकेशन को रोक दिया.

ये भी पढ़ें-शराब पीकर गाड़ी चलाने पर लगेगा 10 हजार का जुर्माना!

सरकार ने इसलिए शुरू किया था आधार और डीएल के वेरिफिकेशन को शुरू- Aadhar को ड्राइविंग लाइसेंस के साथ लिंक करवाने के पीछे सरकार यह सुनिश्चित करना चाहती थी की एक व्यक्ति के पास एक से अधिक ड्राइविंग लाइसेंस ना हो.

ये भी पढ़ें-सरकार का प्लान,मकान मालिक मन मुताबिक नहीं बढ़ा सकेंगे किराया

Aadhar से ड्राइविंग लाइसेंस लिंक करने पर उस व्यक्ति की सभी निजी जानकारी भी लिंक होती थी. इससे फेक या एक से अधिक ड्राइविंग लाइसेंस रखने की सम्भावना भी कम हो जाती थी.

ये भी पढ़ें-दुनिया में किन मुल्कों के पास सबसे ज्यादा सोना!
First published: July 16, 2019, 10:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...