• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • दूसरी छमाही में बाजार से 5.03 लाख करोड़ रुपये उधार लेगी सरकार, जानिए क्या है योजना?

दूसरी छमाही में बाजार से 5.03 लाख करोड़ रुपये उधार लेगी सरकार, जानिए क्या है योजना?

 वित्त मंत्रालय ने बताया कि राजस्व में कमी की भरपाई के लिए यह कर्ज लिया जाएगा.

वित्त मंत्रालय ने बताया कि राजस्व में कमी की भरपाई के लिए यह कर्ज लिया जाएगा.

वित्त मंत्रालय ने बताया कि राजस्व में कमी की भरपाई के लिए यह कर्ज लिया जाएगा.

  • Share this:

    नई दिल्ली. केंद्र सरकार मौजूदा वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी छमाही में 5.03 लाख करोड़ रुपये का बाजार से उधार लेगी. वित्त मंत्रालय (Finance ministry) ने सोमवार को बताया कि राजस्व में कमी की भरपाई के लिए यह कर्ज लिया जाएगा. मंत्रालय ने कहा कि महामारी से प्रभावित अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए सरकार यह कर्ज लेगी. इससे पहले, पहली छमाही में सरकार ने बांड जारी कर 7.02 लाख करोड़ रुपये जुटाए हैं.

    मंत्रालय ने कहा, “आम बजट में मौजूदा वित्त वर्ष के लिए करीब 12.05 लाख करोड़ रुपये का कुल कर्ज लेने का अनुमान लगाया गया है. इसमें से 60 पर्सेंट यानी 7.24 लाख करोड़ रुपये का कर्ज पहली छमाही में जुटाने की योजना बनाई गई थी.” बयान में कहा गया है कि पहली छमाही में 7.02 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लिया गया है.अब सरकार की योजना बाकी 5.03 लाख करोड़ रुपये का कर्ज दूसरी छमाही में लेने की है.

    शुद्ध कर्ज 9.37 लाख करोड़ रुपये रह सकता है
    दूसरी छमाही के कर्ज अनुमान में जीएसटी (GST) मुआवजे के बदले बैक-टू-बैक ऋण सुविधा के तहत राज्यों को शेष राशि जारी करने की जरूरत को भी शामिल किया गया है. बजट 2021-22 के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष में सरकार का सकल कर्ज 12.05 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है. वहीं शुद्ध कर्ज 9.37 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है.

    ये भी पढ़ें- 24 रुपये वाला शेयर हुआ ₹2,064 का, निवेशक हुए मालामाल! 1 लाख के बन गए 86 लाख, आगे भी रहेगी तेजी

    बजट में अगले वित्त वर्ष में फिस्कल डेफिसिट 6.8 पर्सेंट रहने का अनुमान लगाया गया है. यह मौजूदा वित्त वर्ष में फिस्कल डेफिसिट GDP का 9 पर्सेंट रहने के अनुमान से कम है. सरकार अपने फिस्कल डेफिसिट को पूरा करने के लिए सिक्योरिटीज और ट्रेजरी बिलों के जरिए जार से धन जुटाती है.

    21 साप्ताहिक किस्तों में रकम जुटाएगी
    एक रिपोर्ट के मुताबिक सरकारी उधारी से जुड़े कार्यक्रम को तय करने के लिए RBI से बातचीत कर रही है. बताया जा रहा है कि सरकार 23,000-24,000 करोड़ रुपये की 21 साप्ताहिक किस्तों में रकम जुटाएगी. पहली छमाही के दौरान सरकार ने 6.19 पर्सेंट की औसत यील्ड पर बॉन्ड जारी किए थे, जिसमें सभी सेगमेंट के निवेशकों ने दिलचस्पी दिखाई थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज