इंडिया में फ्रीज हुए TikTok के पैरेंट कंपनी Bytedance के बैंक अकाउंट, जानें क्या है मामला

इंडिया में फ्रीज हुए TikTok के पैरेंट कंपनी Bytedance के बैंक अकाउंट

इंडिया में फ्रीज हुए TikTok के पैरेंट कंपनी Bytedance के बैंक अकाउंट

इंडिया में टिकटॉक (TikTok) के बैन होने के बाद सरकार ने उसकी पैरेंट कंपनी बाइटडांस (ByteDance) के खिलाफ भी सख्त कदम उठाया है. टैक्स चोरी के आरोप में सरकार ने बाइटडांस के इंडिया में मौजूद सभी अकाउंट्स को फ्री कर दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली: इंडिया में टिकटॉक (TikTok) के बैन होने के बाद सरकार ने उसकी पैरेंट कंपनी बाइटडांस (ByteDance) के खिलाफ भी सख्त कदम उठाया है. टैक्स चोरी के आरोप में सरकार ने बाइटडांस के इंडिया में मौजूद सभी अकाउंट्स को फ्री कर दिया है. सरकार के इस कदम के बाद कंपनी ने मुंबई हाईकोर्ट (Mumbai HighCourt) का सहारा लिया है और सरकार के फैसले पर कोर्ट में याचिका दायर की है. इसके साथ ही सरकार के इस आदेश को जल्द ही खारिज करने की गुहार लगाई है.

रॉयटर्स की खबर के मुताबिर, कंपनी ने आगे कहा कि सरकार के इस फैसले से उसके बिजनेस को भारी नुकसान हो सकता है.जनवरी में भारत में अपने कर्मचारियों को निकाल दिया था. हालांकि, भारत में बाइटडांस के अभी भी 1300 कर्मचारी कार्यरत हैं जिसमें से ज्यादातर लोग विदेश ऑपरेशन को हैंडल कर रहे हैं जिसमें कंटेंट मॉडरेशन भी शामिल है.

Youtube Video


यह भी पढ़ें: फ्री LPG कनेक्शन लेने वालों के लिए बड़ी खबर, सरकार बदलने जा रही है सब्सिडी के नियम, अब...!
पैसे निकालने की नहीं है परमिशन

रायटर्स को इस मामले से जुड़े दो सूत्रों ने बताया कि मार्च 2021 टैक्स अधिकारियों को बाइटडांस की भारतीय इकाई और सिंगापुर में मौजूद इसकी पेरेंट कंपनी TikTok Pte Ltd के बीच हुए ऑनलाइन एडवर्टाइजिंग डील में कथित तौर पर टैक्स की चोरी का पता चला था. इसके बाद अधिकारियों ने कंपनी के Citibank और HSBC बैंक के अकाउंट को ब्लॉक करने का आदेश दिया था.

दो अधिकारियों ने दी जानकारी



इस खबर के बाद दोनों अधिकारियों ने आदेश दिया है कि कंपनी को टैक्स आईडेंटिफिकेशन नंबर से लिंक किसी भी बैंक अकाउंट से पैसे निकालने की परमिशन न दी जाए.

यह भी पढ़ें: FD पर मिल रहा है ब्याज और इनकम टैक्स विभाग से छिपाया तो आ सकता है नोटिस, जानें क्यों...

खातों में है सिर्फ 10 मिलियन डॉलर

बाइटडांस ने इस मामले को लेकर कोर्ट में याचिका दायर की है जिसकी सुनवाई मुंबई हाईकोर्ट में होगी. इसमें बाइडांस इंडिया ने तर्क दिया है कि जब उसके खातों में केवल 10 मिलियन डॉलर है, तो उस समय इस तरह का रोक लगाना कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग है और इससे वेतन और टैक्स का भुगतान करना कठिन हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज