सरकारी बैंकों के विलय को कैबिनेट की मंजूरी, बनेंगे वर्ल्‍ड क्‍लास बैंक

(File Photo)
(File Photo)

सरकार ने दी सरकारी बैंकों के विलय को मंजूरी

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2017, 4:31 PM IST
  • Share this:
सरकारी बैंकों के विलय को कैबिनेट से सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है. इस मर्जर के लिए वैकल्पिक व्‍यवस्‍था करने का फैसला लिया गया है. इस व्‍यवस्‍था के तहत मंत्रियों का समूह बनेगा. मर्जर वाले बैंकों के नाम समूह को सौंपे जाएंगे. मंत्रियों का समूह मर्जर प्रस्ताव मंजूर करेगा. बाद में बैंक बोर्ड से मर्जर को मंजूरी मिलेगी.

बैंकों का मर्जर 4 आधार पर होगा- जैसे, एक ही इलाके वाले बैंकों का मर्जर होगा. बैंकों की एसेट क्वालिटी में तालमेल जरूरी होगा. बैंकों की कैपिटल एडिक्वेसी (पूंजी पर्याप्‍तता) में तालमेल जरूरी होगा. बैंकों के मुनाफे का भी ख्याल रखा जाएगा. एसबीआई, आईडीबीआई बैंक को छोड़कर सभी बैंक इस कानून के तहत आएंगे. ये मर्जर बैंकिंग कंपनीज एक्ट के तहत होगा.

एंबिट कैपिटल के सौरभ मुखर्जी ने कहा कि पीएसयू बैंकों के विलय से देश को फायदा होगा, लेकिन शेयरधारकों के लिए इससे फायदा नजर नहीं आता. सौरभ मुखर्जी के मुताबिक इस समय फाइनेंशियल सेक्टर से दूर रहना ही बेहतर है.



यह भी पढ़े: मार्केट से पूंजी जुटाने को लेकर सरकारी बैंकों की क्षमता पर CAG ने जताया संदेह
यह भी पढ़े: 9 सरकारी बैंकों के बंद होने की खबर से बढ़ी लाखों की परेशानी, RBI की सफाई भी बेअसर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज