क्या बंद हो जाएंगी BSNL-MTNL? जानें इन कंपनियों को लेकर सरकार का प्लान

क्या बंद हो जाएंगी BSNL-MTNL?

क्या बंद हो जाएंगी BSNL-MTNL?

भारत संचार निगम लिमिडेट (Bharat Sanchar Nigam Limited) और महानगर टेलिफोन निगम लिमिटेड (Mahanagar Telephone Nigam Limited) को लंबे समय से नुकसान हो रहा है, जिसके बाद संसद में दूरसंचार राज्यमंत्री संजय धोत्रे ने इन कंपनियों को लेकर सरकार के प्लान के बारे में बताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2021, 6:06 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली: भारत संचार निगम लिमिडेट (Bharat Sanchar Nigam Limited) और महानगर टेलिफोन निगम लिमिटेड (Mahanagar Telephone Nigam Limited) को लगातार काफी समय से नुकसान हो रहा है, जिसके चलते कुछ समय पहले मजदूर यूनियन ने सरकार पर आरोप लगा था कि सरकार इन कंपनियों को बेचने का प्लान कर रही है. इसके अलावा इस बात को लेकर विपक्ष ने भी सरकार पर निशाना साधा था.

इसके साथ ही 1 फरवरी को पेश हुए बजट में सरकार ने एयर इंडिया, भारत पेट्रोलियम सहित कई कंपनियों में हिस्सेदारी बेचने का प्लान बनाया है तो ऐसे में लोगों को इस बात का संदेह है कि सरकार BSNL और MTNL में लंबे समय से हो रहे नुकसान के चलते इसको भी बेचने का प्लान बना सकती है.

यह भी पढ़ें: SBI ने 40 करोड़ ग्राहकों को दी बड़ी सुविधा, अब घर बैठे ऑनलाइन अपडेट करें नॉमिनी की डिटेल्स

नहीं है सरकार का ऐसा कोई प्लान
मनी कंट्रोल की खबर के मुताबिक, संसद में दूरसंचार राज्यमंत्री संजय धोत्रे ने इस बारे में सरकार की तरफ से लोकसभ में सफाई दी है कि सरकार का फिलहाल BSNL और MTNL को बेचने या बंद करने का कोई प्लान नहीं है.

कितना है इन दोनों कंपनियों का घाटा?

बता दें बजट अधिवेशन के दौरान धोत्रे ने आंकड़े पेश करते हुए बताया कि साल 2019-20 में बीएसएनएल के घाटे में इजाफा हुआ है. कंपनी का घाटा अब बढ़कर 15500 करोड़ के करीब पहुंच गया है. इसके अलावा एमटीएनएल को करीब 3811 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है.



यह भी पढ़ें: BoB के करोड़ों ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, 1 मार्च से नहीं कर पाएंगे पैसों का लेनदेन, जानें क्यों...?

लोकसभा में दी जानकारी

संजय धोत्रे ने बीएसएनएल और एमटीएनएल को लेकर लोकसभा में लिखित में उत्तर पेश किया है, जिसमें लिखा है कि बीएसएनएल के 78569 कर्मचारियों ने स्वेच्छा सेवानिवृत्ति (VRS) है. इसके अलावा MTLN के भी करीब 14387 कर्मचारियों ने VRS ले लिया है. इसके अलावा सरकार ने इन दोनों कंपनियों के लिए 16206 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद का भी ऐलान किया था, जिसमें से 14890 करोड़ रुपए कंपनियों को दिया जा चुका है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज