लाइव टीवी
Elec-widget

सरकार ने बदले सोने के गहनों से जुड़े नियम! नहीं मानने पर देना होगा 1 लाख का जुर्माना और होगी जेल

News18Hindi
Updated: November 29, 2019, 6:02 PM IST
सरकार ने बदले सोने के गहनों से जुड़े नियम! नहीं मानने पर देना होगा 1 लाख का जुर्माना और होगी जेल
सोने की ज्वेलरी पर बीआईएस हॉलमार्क अनिवार्य हो गई है.

केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान (Ram vilas Paswan) ने शुक्रवार को कहा कि 2021 से देश भर में सोने के ज्वेलरी पर BIS हॉलमार्क होने को अनिवार्य कर दिया जाएगा. इसके लिए 15 जनवरी 2020 को अधिसूचना जारी कर दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2019, 6:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अब अगर आप भी सोने के गहने खरीदने (Gold Rate Today) का प्लान बना रहे हैं तो ये खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए. शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram vilas Paswan) ने जानकारी दी है कि अब भारत में सोने की ज्वेलरी और कलाकृतियों के लिए BIS हॉल मार्किंग अनिवार्य (BIS Hallmarking for Gold Jewelry) की जा रही है. इसको लेकर केंद्र सरकार 15 जनवरी 2020 को अधिसूचना भी जारी करेगी. अधिसूचना जारी करने के ठीक एक साल बाद यानी 15 जनवरी 2021 से सोने के गहने पर BIS हाल मार्किंग अनिवार्य होगा. उन्होंने बताया कि BIS हॉल मार्किंग अनिवार्य होने के बाद अगर कोई ज्वेलर नियमों की अनदेखी करता है तो एक लाख रुपये का जर्माना और एक साल की सजा हो सकती है. इसके अलावा जुर्माने के तौर पर सोने की वैल्यू का पांच गुना तक चुकाने का प्रावधान भी किया गया है.

ज्वेलर्स को मिलेगा एक साल का मौका- उन्होंने कहा कि ज्वेलर्स को इसके लिए एक साल का वक्त दिया जाएगा. सरकार द्वारा यह कदम इसलिए उठाया गया है ताकि ग्राहकों को शुद्ध सोना मिल सके. सरकार द्वारा इस नियम के लागू किए जाने के बाद देश में कहीं भी बिना BIS हॉल मार्किंग के सोने की ज्वेलरी नहीं बेची जा सकेगी.



ये भी पढ़ें: मसाला बनाने वाली मशहूर कंपनी एवरेस्ट स्पाइसेस के 40 ठिकानों पर इनकम टैक्स के छापेमारी जारी!

 क्या होती है हॉलमार्किंग-हॉलमार्किंग से ज्वेलरी में कितना सोना लगा है और अन्य मेटल कितने हैं इसके अनुपात का सटीक निर्धारण एवं आधिकारिक रिकॉर्ड होता है. नए नि‍यमों के तहत अब सोने की जूलरी की हॉल मार्किंग होना अनि‍वार्य होगा. इसके लि‍ए ज्‍वेलर्स को लाइसेंस लेना होगा.


देशभर में छोटे बड़े 6 लाख ज्वेलर्स- सरकार ने कहा है कि ज्वेलर्स को एक साल में पुराने स्टॉक को खत्म करना होगा. बता दें कि भारतीय मानक ब्यूरो के 234 जिलों में 877 केंद्र खोले गए हैं. मौजूदा समय में केवल 26,019 ज्वेलर्स के पास ही हॉलमार्का प्रमाणित होता हैं. देशभर में छोटे बड़े 6 लाख ज्वेलर्स हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 4:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...