अपना शहर चुनें

States

49 केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट्स के टैक्स इनवॉइस पर 8 अंकों का HSN कोड अनिवार्य, CBIC ने जारी किया नोटिफिकेशन

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

सरकार ने जीएसटी (GST) का बिल या चालान जारी करते समय 49 केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट्स के 8 अंक के एचएसएन या टैरिफ कोड (HSN or Tariff Code) के उल्लेख को अनिवार्य कर दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने वस्तु एवं सेवाकर (Goods and Services Tax) का बिल या चालान जारी करते समय 49 केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट्स के 8 अंक के एचएसएन या टैरिफ कोड (HSN or Tariff Code) के उल्लेख को अनिवार्य कर दिया है. विशेषज्ञों का मानना है कि इस कदम से टैक्स चोरी रोकने में मदद मिलेगी.

फिलहाल कारोबारियों बिल जारी करते समय चार अंक के टैरिफ कोड की जरुरत
केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (Central Board of Indirect Taxes and Customs) ने इन उत्पादों के लिए एचएसएन कोड को नोटिफाई करते हुए कहा, ''किसी पंजीकृत व्यक्ति को उसके द्वारा जारी टैक्स इनवॉइस में आठ अंक के एचएसएन कोड का उल्लेख करना होगा.'' अभी तक कारोबारियों को बिल जारी करते समय चार अंक के टैरिफ कोड का उल्लेख करने की जरूरत होती है.

ये भी पढ़ें- आपके पास भी है 10 रुपए वाला ये फटा-पुराना नोट, तो अब बन जाएंगे अमीर, बस करें ये काम
व्यापार की भाषा में प्रत्येक प्रोडक्ट को एचएसएन (Harmonised System of Nomenclature) कोड में वर्गीकृत किया जाता है. इससे वैश्विक स्तर पर वस्तुओं के सिस्टेमेटिक क्लासिफिकेशन में मदद मिलती हैं.



ये भी पढ़ें-  किसान आंदोलन के बीच सस्ता हुआ प्याज, कीमतों में आई 10 रुपये की गिरावट

1 दिसंबर, 2020 से टैक्स इनवॉइस में आठ अंक के HSN कोड का उल्लेख करना जरूरी
एएमआरजी एंड एसोसिएट्स के सीनियर वाइस पार्टनर रजत मोहन ने कहा कि सीबीआईसी ने नोटिफाई किया है कि विशेष प्रकार के केमिकल के सभी सप्लायर के लिए एक दिसंबर, 2020 से टैक्स इनवॉइस में आठ अंक के एचएसएन कोड का उल्लेख करना जरूरी होगा. बेशक सप्लायर के परिचालन का स्तर कितना भी हो.

फर्जी बिलों पर अंकुश के लिए उठाया गया कदम
मोहन ने कहा, ''यह पहली अधिसूचना है जिसमें विशेष श्रेणी के सप्लायर के लिए एचएसएन कोड का उल्लेख करना अनिवार्य किया गया है. हालांकि विशेष प्रकार के सप्लायर को घेरने की कोई वजह नहीं है, लेकिन ऐसा लगता है कि यह कदम फर्जी बिलों पर अंकुश के लिए उठाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज