• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • अब और ज्यादा लोगों के PF खाते में पैसे डाल सकती है सरकार, कर रही बड़ी तैयारी

अब और ज्यादा लोगों के PF खाते में पैसे डाल सकती है सरकार, कर रही बड़ी तैयारी

पीएफ खाते में योगदान का दायर बढ़ा सकती है सरकार

पीएफ खाते में योगदान का दायर बढ़ा सकती है सरकार

केंद्र सरकार अब विभिन्न कंपनियों में 15,000 रुपये प्रति माह तक की कमाई करने वाले कर्मचारियों के पीएफ अकाउंट (PF Account) में योगदान का दायरा बढ़ाने पर विचार कर ही है. इसके पहले ऐलान में सरकार ने इस योगदान को लेकर कुछ शर्तें रखी थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केंद्र सरकार इस बात पर विचार कर रही है​ कि 100 से अधिक स्टाफ वाले संस्था में कर्मचारियों के पीएफ खाते (PF Accounts) में उनके हिस्से का योगदान करे. इस स्कीम के तहत सरकार केवल उन्हीं कर्मचारियों के PF खाते में योगदान करेगी, जिन्हें बेहद कम वेतन मिलेगी.

    संभव है कि केंद्र सरकार इस बारे में जल्द ही ऐलान कर दे. लाइवमिंट ने एक सरकारी अधिकारी के हवाले से लिखा है कि फिलहाल यह एक प्रस्ताव ही है. इस बारे में अभी कोई विस्तृत जानकारी सामने नहीं आई है.

    यह भी पढ़ें: आपके पास नहीं है पैन कार्ड तो रुक जाएंगे ये काम, जानिए आखिर क्यों है जरूरी

    सरकार ने पहले भी किया है ये ऐलान
    इसके पहले भी राहत पैकेज के ऐलान के दौरान सरकार ने कहा था कि अगर किसी संस्था में 100 कर्मचारी काम करते हैं, जिनमें से 90 फीसदी की सैलरी 15,000 रुपये से कम है तो उनके EPF में योगदान करेगी. सरकार के इस ऐलान के मुताबिक, लगातार तीन महीनों तक प्रतिमाह सरकार यह योगदान करेगी.

    इन बातों पर विचार कर रही सरकार
    सरकारी अधिकारी ने बताया कि इस प्रस्ताव को लेकर सरकार कई तरीकों से विचार कर रही है.

    >> पहला तो यह कि 15 हजार रुपये प्रति माह की कमाई करने वाले सभी कंपनियों के कर्मचारियों के खाते में योगदान किया जाए. इसमें पहले की तरह 90 फीसदी के राइडर को खत्म कर दिया जाए.

    >> संभव है कि 100 कर्मचारियों की संख्या वाली कंपनियों से इसे बढ़ाकर 200 कर्मचारियों तक कर दिया जाए.

    >> साथ ही सरकार इस बात पर भी विचार कर रही है कि जिन कंपनियों में 100 या इससे कम कर्मचारी हैं, उनमें 15,000 रुपये प्रति माह कमाने वाले कर्मचारियों के राइडर को 90 फीसदी से घटाकर 60 फीसदी कर दिया जाए ताकि अधिक से अधिक कर्मचारी इस दायरे में आ सकें. अगर सरकार ऐसा करती है तो जिन कंपनियों में कम से कम 60 फीसदी कर्मचारियों की सैलरी 15,000 रुपये तक है तो उन्हें भी इसका लाभ​ मिल सकेगा.

    यह भी पढ़ें: 44 लाख लोगों ने उठाया इस स्कीम का फायदा, 55 रुपये देकर पाएं 3000 की पेंशन

    3 महीने के लिए ही सरकार करेगी योगदान
    हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि सरकार कर्मचारी और नियोक्ता के योगदान को मिलाकर पूरे 24 फीसदी का योगदान करेगी या इसका केवल एक ही हिस्सा देगी. अगर इस स्कीम को लागू किया जाता है तो यह केवल 3 महीने के लिए ही होगा. अधिकारी ने बताया कि इस स्कीम के जरिए सरकारी खजाने पर पड़ने बोझ के आधार पर ही तय होगा कि इसे लागू किया जाए. अगर लागू किया जाता है तो किस स्तर पर सरकार ऐसा करेगी. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि लाभार्थियों के बारे में फैसला लेते वक्त सरकार 15,000 रुपये प्र​ति माह की सैलरी को ही ध्यान में रखेगी.

    यह भी पढ़ें:  इन 16 करोड़ लोगों के खाते में सरकार ने ट्रांसफर किए 36,659 करोड़ रुपये

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज