सरकार ने चीनी कंपनियों को दी चेतावनी! कहा- दूसरे रास्ते से App उपलब्ध कराना अवैध, दोषी पाए जाने पर होगी सख्त कार्रवाई

सरकार ने चीनी कंपनियों को दी चेतावनी! कहा- दूसरे रास्ते से App उपलब्ध कराना अवैध, दोषी पाए जाने पर होगी सख्त कार्रवाई
यूजर्स को App उपलब्ध कराना अवैध

सरकार ने 29 जून को चीन से संबद्ध टिकटॉक (TikTok), कैमस्कैनर (CamScanner) और यूसी ब्राउजर समेत 59 ऐप पर पाबंदी लगा दी. उसका कहना था कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिये खतरा हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 22, 2020, 12:59 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने चीनी कंपनियों के 59 ऐप पर पाबंदी लगाने के बाद मंगलवार को उन्हें इस आदेश का कड़ाई से पालन करने को कहा और उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी. आधिकारिक सूत्रों के अनुसार आदेश का किसी भी तरीके से उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गयी है. सरकार ने 29 जून को चीन से संबद्ध टिकटॉक (TikTok), कैमस्कैनर (CamScanner) और यूसी ब्राउजर समेत 59 ऐप पर पाबंदी लगा दी. उसका कहना था कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिये खतरा हैं.

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इन संभी कंपनियों को पत्र लिखकर आगाह किया है कि इन प्रतिबंधित ऐप का किसी भी रूप से सीधे या परोक्ष रूप से उपलब्धता और परिचालन जारी रहना न केवल अवैध है बल्कि सूचना प्रौद्योगिकी कानून एवं अन्य संबंधित प्रावधान के तहत दंडनीय अपराध है. प्रतिबंधित सूची में शामिल अगर कोई भी ऐप किसी अन्य माध्यम से भारत में उपयोग के लिये प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से उपलब्ध कराया जाता है, इसे सरकारी आदेश का उल्लंघन माना जाएगा. उसने कहा कि इन सभी कंपनियों को निर्देश दिया जाता है कि वे मंत्रालय के आदेश का कड़ाई से पालन करें और ऐसा नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें- चीन की और बढ़ेंगी मुसीबतें! इसी हफ्ते मोदी सरकार लागू करेगी नया नियम, China को होगा बड़ा आर्थिक नुकसान





मंत्रालय ने इन कंपनियों को भेजी सूचना में कहा कि संप्रभु शक्तियों और सूचना प्रौद्योगिकी कानून की धारा 69 ए का उपयोग करते हुए यह पाबंदी लगायी गयी है. कंपनियों को इस संदर्भ में जारी आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने को कहा गया है. (असीम मनचंदा, संवाददाता- CNBC आवाज़)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज