Home /News /business /

नीरव मोदी को भारत लाने की कोशिशें तेज़, सरकार ने तीन देशों को लिखी चिट्ठी

नीरव मोदी को भारत लाने की कोशिशें तेज़, सरकार ने तीन देशों को लिखी चिट्ठी

नीरव मोदी (फाइल फोटो)

नीरव मोदी (फाइल फोटो)

सूत्रों के मुताबिक सिर्फ पासपोर्ट रद्द होने पर गिरफ्तारी नहीं की जा सकती है. कई देश इसे नहीं मानता है. हालांकि ये देश इंटरपोल द्वारा जारी किए गए रेड कॉर्नर नोटिस नोटिस को जरूर मानता है.

    पंजाब नेशनल बैंक में हुए करीब 13 हजार करोड़ के घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी को भारत लाने की कोशिशें तेज़ हो गई हैं. न्यूज़ 18 को मिली जानकारी के मुताबिक नीरव मोदी को पकड़ने के लिए विदेश मंत्रालय में लगातार बैठकें चल रही है.

    पिछले हफ्ते विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने सीबीआई और ईडी के अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक के दौरान सवाल उठाए गए कि फरवरी में पासपोर्ट रद्द होने के बावजूद नीरव मोदी कैसे एक से दूसरे देश में घूम रहा है.

    सूत्रों के मुताबिक सिर्फ पासपोर्ट रद्द होने पर गिरफ्तारी नहीं की जा सकती है. कई देश इसे नहीं मानते हैं. हालांकि ये देश इंटरपोल द्वारा जारी किए गए रेड कॉर्नर नोटिस नोटिस को जरूर मानते हैं. लेकिन अभी तक रेड कॉर्नर नोटिस जारी नहीं किया गया है. आपको बता दें कि इंटरपोल द्वारा जारी किया गया रेड कॉर्नर नोटिस किसी भी अपराधी को पकड़ने के लिए दुनिया भर में मान्य प्रक्रिया है.

    इस बीच विदेश सचिव विजय गोखले ने नीरव मोदी के मुद्दे पर मंगलवार को एक बैठक बुलाई. तीन यूरोपीय देशों को 'नोट वर्बल्स' (विरोध चिट्ठी) फिर से दी गई है. ये तीन देश हैं ब्रिटेन, बेल्जियम और फ्रांस. भारत का मानना है कि नीरव मोदी इन देशों में ही छुपा है. मंत्रालय इन देशों के संपर्क में है.


    सूत्रों का कहना है कि नीरव मोदी को पकड़ने के लिए दो विकल्प हैं. पहला ये कि भारत को इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस हासिल करना होगा. कहा जा रहा है कि पासपोर्ट, अदालती नोटिस और नीरव मोदी के खिलाफ अन्य सबूत के साथ एजेंसियां इंटरपोल पर रेड कॉर्नर नोटिस के लिए दबाव बना सकती हैं. पासपोर्ट पहले ही रद्द हो चुका है.

    दूसरा विकल्प ये है कि भारत नीरव मोदी के ठिकाने का सटीक स्थान का पता लगाए यानी ये पता चलना चाहिए कि वो किस देश में हैं. एक बार उसके ठिकाने के बारे में पता लग जाने पर भारत प्रत्यर्पण की कोशिश कर सकता है. इसके बाद ये देखना होगा कि क्या भारत का उस देश के साथ प्रत्यर्पण संधि है या नहीं.

    ये भी पढ़ें:

    पत्रकार शुजात बुखारी के तीन हत्यारों की हुई पहचान, लश्कर आतंकी नवीद जट्ट भी शामिल

    राष्ट्रपति कोविंद और उनकी पत्नी के साथ जगन्नाथ मंदिर में हुई 'बदसलूकी': रिपोर्ट

    Tags: Nirav Modi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर