Home /News /business /

अप्रैल-जनवरी में देश का राजकोषीय घाटा बढ़कर FY22 के टारगेट का 58.9% हुआ

अप्रैल-जनवरी में देश का राजकोषीय घाटा बढ़कर FY22 के टारगेट का 58.9% हुआ

भारत का फिस्कल डेफिसिट (Fiscal Deficit) अप्रैल, 2021 से जनवरी, 2022 के बीच बढ़कर वित्त वर्ष 22 के लक्ष्य का 58.9 फीसदी हो गया है.

भारत का फिस्कल डेफिसिट (Fiscal Deficit) अप्रैल, 2021 से जनवरी, 2022 के बीच बढ़कर वित्त वर्ष 22 के लक्ष्य का 58.9 फीसदी हो गया है.

Fiscal Deficit : भारत का फिस्कल डेफिसिट (Fiscal Deficit) अप्रैल, 2021 से जनवरी, 2022 के बीच बढ़कर वित्त वर्ष 22 के लक्ष्य का 58.9 फीसदी हो गया है. कंट्रोलर जनरल ऑफ अकाउंट्स द्वारा 28 फरवरी को जारी आंकड़ों में यह बात सामने आई है.

नई दिल्ली. Fiscal Deficit : भारत का राजकोषीय घाटा (Fiscal Deficit) अप्रैल, 2021 से जनवरी, 2022 के बीच बढ़कर वित्त वर्ष 22 के लक्ष्य का 58.9 फीसदी हो गया है. कंट्रोलर जनरल ऑफ अकाउंट्स द्वारा 28 फरवरी को जारी आंकड़ों में यह बात सामने आई है. अप्रैल-दिसंबर, 2021 में फिस्कल डेफिसिट पूरे साल के टारगेट का 50.4 फीसदी रहा था.

सरकार के फाइनेंसेज से जुड़े ताजा आंकड़े बजट, 2022-23 के बाद आए हैं, जिसमें केंद्र सरकार ने कहा था कि उसका फिस्कल डेफिसिट ग्रॉस डॉमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) के 6.8 फीसदी के लक्ष्य की तुलना में 10 बेसिस प्वाइंट ज्यादा रहेगा.

ये भी पढ़ें – राकेश झुनझुनवाला के इस स्टॉक पर बुलिश है बड़ा ब्रोकरेज हाउस, टारगेट 2,000 का

हालांकि, 6.9 फीसदी के बावजूद चालू वित्त वर्ष में फिस्कल डेफिसिट बीते साल की तुलना में खासा बेहतर स्थिति में होगा, जब डेफिसिट बढ़कर 9.2 फीसदी हो गया था. इसकी मुख्य वजह सरकार द्वारा महामारी की मार से लड़ने के लिए खर्च में बढ़ोतरी करना रही और साथ ही कोरोना वायरस के चलते आर्थिक गतिविधियां थमने की वजह से सरकार के रेवेन्यू को भी तगड़ा झटका लगा था.

बढ़ाकर 18.49 लाख करोड़ किया था फिस्कल डेफिसिट
इस साल सरकार के फाइनेंसेज बेहतर स्थिति में रहे हैं. वित्त वर्ष 21 के पहले 10 महीनों में फिस्कल डेफिसिट पूरे साल के रिवाइज्ड टारगेट का 66.8 फीसदा रहा था. बजट, 2021 में वित्त वर्ष 21 के लिए फिस्कल डेफिसिट के टारगेट को 7.96 लाख करोड़ रुपये से बढ़ाकर 18.49 लाख करोड़ रुपये कर दिया गया. सरकार ने महामारी में हुए खर्च और रेवेन्यू में कमी को देखते हुए यह फैसला किया था.

ये भी पढ़ें – 2021 में कोरोना के बावजूद बढ़ी घरों की मांग, इन शहरों में कीमत 7 प्रतिशत तक बढ़ी

जनवरी, 2022 में केंद्र ने 1.79 लाख करोड़ रुपये का फिस्कल डेफिसिट दर्ज किया, जो बीते साल समान महीने की तुलना में दोगुने से ज्यादा था. जनवरी, 2022 में फिस्कल डेफिसिट बढ़ोतरी की मुख्य वजह प्राप्तियों में 32.1 फीसदी की गिरावट और खर्च में 21.6 फीसदी की बढ़ोतरी रही.

Tags: Fiscal Deficit

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर