Grofers में हिस्सेदारी खरीद सकती है जोमैटो, ग्रोफर्स के को-फाउंडर ने छोड़ी कंपनी

सौरव कुमार (फोटो क्रेडिट-twitter.com/skgrofer)

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जोमैटो या तो ग्रोफर्स में 10 करोड़ डॉलर का निवेश करके कंपनी में माइनोरिटी स्टेक खरदेगी या फिर पूरी तरह ग्रोफर्स का अधिग्रहण करने का तैयारी में है

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऑनलाइन ग्रॉसरी कंपनी ग्रोफर्स (Grofers) के को-फाउंडर सौरव कुमार (Saurabh Kumar) ने कंपनी छोड़ दी है. कंपनी के दूसरे को-फाउंडर और सीईओ अलबिंदर ढींडसा (Albinder Dhindsa) ने ट्वीट करते यह जानकारी दी है. खास बात है कि सौरव कुमार ने कंपनी छोड़ने का फैसला ऐसे समय में किया जब ऑनलाइन फूड डिलिवरी फर्म जोमैटो (Zomato) इसमें हिस्सेदारी खरीदने की बातचीत कर रही है.

    अलबिंदर ढींडसा ने कहा कि सौरव कुमार पिछले 6 महीने से अपने पर्सनल इवोल्यूशन में निनेश करने की तैयारी कर रहे थे, ताकि वे ग्रोथ ड्राइवर से खुद को एक डिजाइनर, इनेबलर और कोच के रूप में स्थापित कर सके. अलबिंदर ढींडसा ने अपने पोस्ट में सौरव कुमार की खूब प्रशंसा की.


    सौरव कुमार ने कंपनी के कर्मचारियों के नाम संबोधित अपने फेयरवेल ई-मेल में कहा कि पिछले 8 साल से मैं ग्रोफर्स के बार की दुनिया और लाइफ को नहीं जानता. मैंने जो कुछ सीखा और जाना है, यहीं ग्रोफर्स में ही जाना है. मैंने यहां कभी अकेला महसूस नहीं किया.

    सौरव कुमार ने लिखा, ''हमने कई बार गलतियां की और सफलता का स्वाद भी एक-साथ मिलकर चखा. उन्होंने अपने अगले एंटरप्रेन्योरल जर्नी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि वे फिर से इधर-उधर भटकना चाहते हैं.''



    ग्रोफर्स का अधिग्रहण करने का तैयारी में है जोमैटो
    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,  जोमैटो या तो ग्रोफर्स में 10 करोड़ डॉलर का निवेश करके कंपनी में माइनोरिटी स्टेक खरदेगी या फिर पूरी तरह ग्रोफर्स का अधिग्रहण करने का तैयारी में है. टाटा ग्रुप की स्वामित्व वाली बिगबास्केट के साथ ग्रोफर्स ही ऑनलाइन ग्रोसरी मार्केट की बड़ी और मेजर प्लेयर है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.