कोरोना काल में ऑनलाइन किराना स्टोर Grofers का बढ़ा मुनाफा, अगले साल लाएगी IPO

कोरोना काल में ऑनलाइन किराना स्टोर Grofers का बढ़ा मुनाफा, अगले साल लाएगी IPO
अगले साल IPO लाएगी Grofers

ऑनलाइन किराना स्टोर ग्रोफर्स (Grofers) की योजना 2022 में आईपीओ लाने की थी, लेकिन कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के दौरान उसके कारोबार में तेजी और मुनाफे में बढ़ोतरी के कारण इसे पहले लाने का फैसला लिया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सॉफ्टबैंक (Softbank)के समर्थन वाले ऑनलाइन किराना स्टोर ग्रोफर्स (Grofers) ने अगले साल के अंत तक इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) लाने की योजना बनाई है. इससे पहले कंपनी की योजना 2022 में आईपीओ लाने की थी, लेकिन कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के दौरान उसके कारोबार में तेजी और मुनाफे में बढ़ोतरी के कारण इसे पहले लाने का फैसला लिया गया है.

ग्रोफर्स के को-फाउंडर और सीईओ अलबिंदर ढींडसा ने कहा कि कंपनी ने जनवरी में ऑपरेशनल प्रॉफिट हासिल किया और उम्मीद है कि इस साल के अंत तक नकदी की स्थिति सकारात्मक हो जाएगी. उन्होंने कहा, जनवरी में ऑपरेशनल प्रॉफिट हासिल करने के बाद लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान हम मुनाफा कमाने की दिशा में तेजी से बढ़े हैं, हम इस साल के अंत तक EBITDA से पहले कंपनी की कमाई और नकदी के मामले में सकारात्मक स्थिति में आने की रास्ते पर बढ़ रहे हैं. हम बाजार की भावनाओं को देख रहे हैं और 2021 के अंत तक पूंजी बाजार में आने का लक्ष्य है.

यह भी पढ़ें- बड़ी राहत! अब गांव के डाकघर में भी खोले जा सकेंगे PPF-MIS खाता, शहर जाने की जरूरत नहीं



6 हजार करोड़ का वैल्युएशन
इससे पहले कंपनी की योजना 2022 में IPO लाने की थी. कंपनी ने बीते वित्त वर्ष के दौरान 2,500 करोड़ रुपये की आय हासिल की और एक अनुमान के मुताबिक ग्रोफर्स का मूल्यांकन 6,000 करोड़ रुपये के करीब आंका गया है.

कंपनी द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, ग्रोफर्स ने पिछले महीने 4.4 करोड़ आइटम्स की डिलीवरी की है और लॉकडाउन शुरू होने के बाद 99.7 प्रतिशत सटीकता के साथ डिलीवर किया है. ग्रोफर्स का दावा है कि उसने मई अंत तक 42 लाख घरों में सेवाएं दी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading