ग्रोफर्स ने सॉफ्टबैंक विजन फंड से 1400 करोड़ रुपये जुटाए

ऑनलाइन ग्रॉसरी डिलीवरी कंपनी ग्रोफर्स को सॉफ्टबैंक से 20 करोड़ डॉलर (1400 करोड़ रुपए) का फंड मिला है. ग्रोफर्स को सॉफ्टबैंक से सीरीज F की फंडिंग मिली है.

News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 1:42 PM IST
ग्रोफर्स ने सॉफ्टबैंक विजन फंड से 1400 करोड़ रुपये जुटाए
ऑनलाइन ग्रॉसरी डिलीवरी कंपनी ग्रोफर्स को सॉफ्टबैंक से 20 करोड़ डॉलर (1400 करोड़ रुपए) का फंड मिला है. ग्रोफर्स को सॉफ्टबैंक से सीरीज F की फंडिंग मिली है.
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 1:42 PM IST
ऑनलाइन ग्रॉसरी डिलिवरी कंपनी ग्रोफर्स (Grofers) को सॉफ्टबैंक से 20 करोड़ डॉलर (1400 करोड़ रुपए) का फंड मिला है. ग्रोफर्स को सॉफ्टबैंक से सीरीज F की फंडिंग मिली है. ग्रोफर्स ने बताया कि इस राउंड में दक्षिण कोरिया की KTB वेंचर्स के साथ-साथ मौजूदा निवेशक टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट और सीकोइया कैपिटल भी शामिल थी. हालांकि ग्रोफर्स ने यह नहीं बताया है कि कंपनी का वैल्यूएशन कितना रहा है. (ये भी पढ़ें: पाकिस्तान का रुपया हुआ 'तबाह', महंगाई बढ़ने से टूटेगी कमर)

मार्च 2018 में कंपनी सॉफ्टबैंक से 400 करोड़ रुपए जुटाए थे. टाइगर ग्लोबल और रूसी अरबपति यूरी मिलनेर की अपोलेतो मैनेजर्स ने भी कंपनी में पैसा लगाया है. निवेश के हिसाब तब ग्रोफर्स का वैल्यूएशन 20 फीसदी घटकर 30 करोड़ डॉलर था.





कहां होगा फंड का इस्तेमाल

कंपनी के को-फाउंडर और चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर अलबिंदर ढिंढसा ने कहा कि कंपनी फंड का इस्तेमाल नए शहरों में अपना पैर फैलाने के लिए करेगी. ढिंढसा और सौरभ कुमार ने 2014 में ग्रोफर्स शुरू किया था. कंपनी का मकसद 2020 तक सेल्स डबल करके 5,000 करोड़ रुपए तक पहुंचाने का है. कंपनी ने बताया है कि मार्च 2018 को खत्म फाइनेंशियल ईयर में कंपनी की कुल आमदनी 53.47 करोड़ रुपए थी.

ये भी पढ़ें: 25 हजार रुपये में शुरू हो जाएगा ये बिजनेस, 1.40 लाख तक हो सकती है कमाई

2017 में ढिंढसा ने बताया था कि दिल्ली और मुंबई में ब्रेक ईवन पर आना कंपनी के लिए बड़ी चुनौती है. उन्होंने कहा कि नोएडा और जयपुर में कंपनी पहले ही ब्रेक ईवन पर आ चुकी है. पिछले 9 महीने में कंपनी की मंथली आमदनी 30 करोड़ रुपए से बढ़कर 80 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...