Home /News /business /

GST collection अक्टूबर 2021 में फिर 1.3 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा, 24 फीसदी हुई बढ़ोतरी

GST collection अक्टूबर 2021 में फिर 1.3 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा, 24 फीसदी हुई बढ़ोतरी

GST Collection अक्‍टूबर 2021 में दूसरी बार रिकॉर्ड स्‍तर पर रहा है.

GST Collection अक्‍टूबर 2021 में दूसरी बार रिकॉर्ड स्‍तर पर रहा है.

वस्‍तु व सेवा कर शुरू होने के बाद दूसरी बार अक्‍टूबर 2021 में सबसे ज्‍यादा टैक्‍स कलेक्‍शन (GST Collection) हुआ है. इससे पहले अप्रैल 2021 में जीएसटी कलेक्शन 1.3 लाख करोड़ रुपये के पार गया था. साथ ही मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई (PMI) भी अक्टूबर के दौरान 55.9 पर रही है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार ने वस्‍तु व सेवा कर संग्रह (GST Collection) के मामले में दूसरी बार बड़ी उपलब्धि हासिल की है. अक्टूबर 2021 में ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन 1,30,127 करोड़ रुपये रहा है. इससे पहले अप्रैल 2021 में जीएसटी कलेक्शन 1.3 लाख करोड़ रुपये के पार गया था. अक्‍टूबर के ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन (Gross GST Collection) में सीजीएसटी (CGST) से 23,861 करोड़ रुपये, एसजीएसटी (SGST) के 30,421 करोड़ रुपये, आईजीएसटी (IGST) से 67,361 करोड़ रुपये और सेस (CESS) से 8,484 करोड़ रुपये का कलेक्शन रहा है. सेस में 699 करोड़ रुपये का योगदान आयात की जाने वाली वस्तुओं पर लागू अधिभार का रहा है.

    अर्थव्‍यवस्‍था के पटरी पर लौटने के मिल रहे संकेत
    केंद्र ने कहा कि अक्टूबर में जीएसटी कलेक्शन इकोनॉमिक रिकवरी (Economic Recovery) के मुताबिक ही रहा है. देश की इकोनॉमी में रिकवरी की पुष्टि हर महीने जेनरेट होने वाले ई-वे बिल (e-Way Bills) से भी होती है. साथ ही कहा कि अगर सेमी-कंडक्टर की आपूर्ति में दिक्‍कत आने की वजह से कार और दूसरे प्रोडक्टस की बिक्री (Cars Sales) में गिरावट नहीं हुई होती तो जीएसटी कलेक्शन का आंकड़ा ज्यादा होता.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोना-चांदी के दाम लुढ़के, धनतेरस से पहले ही बना खरीदारी का मौका, फटाफट देखें नए भाव

    आयात से होने वाली आय में 39 फीसदी बढ़ोतरी
    सरकार ने आईजीएसटी में रेग्‍युलर सेटलमेंट के तौर पर सीजीएसटी के 27,310 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के 22,394 करोड़ रुपये का सेटलमेंट किया है. अक्टूबर के दौरान वस्तुओं के आयात से होने वाली आय सालाना आधार पर 39 फीसदी ज्यादा रही है. इसी तरह घरेलू लेनदेन से होने वाली आय सालाना आधार पर 19 फीसदी ज्यादा रही है.

    ये भी पढ़ें- हर दिन सिर्फ 200 रुपये बचाकर बनाएं 32 लाख रुपये का मोटा फंड, जानें क्या है ये स्कीम और कितना लगेगा समय?

    लगातार चौथे महीने पीएमआई में हुई बढ़ोतरी
    आंकड़ों के मुताबिक, रिकवरी के रास्ते पर चल रहे भारत में उत्पादन गतिविधियों में लगातार सुधार देखने को मिल रहा है. मांग में बढ़ोतरी और कोविड महामरी के हालात में सुधार से इकोनॉमी में सुधार हो रहा है. देश की मैन्युफैक्चरिंग PMI अक्टूबर में 55.9 पर रही है. वहीं, सितंबर में ये 53.7 और अगस्त में 52.3 पर रही थी. पीएमआई के 50 से ऊपर रहने का मतलब होता है कि इकोनॉमी में विस्तार हो रहा है. फरवरी के बाद यह लगातार चौथा महीना है जब इन आंकड़ों में तेजी देखी जा रही है.

    Tags: Business news in hindi, Goods and services tax (GST) on sales, GST collection, GST e-way, Gst latest news in hindi, Gst news, PMI

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर