मोदी सरकार का भरा खजाना, मार्च में GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के पार

मार्च में गुड्स एंड सर्विसे टैक्स (GST) से कुल कलेक्शन 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा.

मार्च में गुड्स एंड सर्विसे टैक्स (GST) से कुल कलेक्शन 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा.

  • Share this:
    मार्च में गुड्स एंड सर्विसे टैक्स (GST) से कुल कलेक्शन 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा. जीएसटी लागू होने के बाद से किसी एक महीने में अर्जित यह सर्वाधिक राजस्व है. पिछले वित्त वर्ष में यह चौथा अवसर है जब GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा हुआ है. इससे पहले जनवरी 2019, अप्रैल और अक्टूबर 2018 में 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक कलेक्शन हुआ था. अप्रैल 2018 में जीएसटी कलेक्शन 1.03 लाख करोड़ रुपये, अक्टूबर में 1,00,710 करोड़ रुपये और जनवरी 2019 में 1.02 लाख करोड़ रुपये रहा. (ये भी पढ़ें: आज से लागू हुआ होम-पर्सनल और ऑटो लोन का नया नियम, जानें आपकी EMI पर क्या असर होगा!)

    मार्च 2019 में सकल जीएसटी कलेक्शन 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा है. इसमें केंद्रीय जीएसटी (CGST) 20,400 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी (SGST) 27,500 करोड़ रुपये, एकीकृत जीएसटी (IGST) 50,400 करोड़ रुपये तथा GST सेस 8,300 करोड़ रुपये रहा है.

    ये भी पढ़ें: इस प्राइवेट बैंक ने ग्राहकों को दिया तोहफा, इतनी सस्ती हुई होम-ऑटो-पर्सनल लोन की EMI



    वित्त वर्ष 2018-19 में जीएसटी कलेक्शन-
    > अप्रैल 2018- 1.03 लाख करोड़ रुपये
    >> मई 2018- 94,016 करोड़ रुपये
    >> जून 2018- 95,610 करोड़ रुपये
    >> जुलाई 2018- 96,483 करोड़ रुपये
    >> अगस्त 2018- 93,960 करोड़ रुपये
    >> सितंबर 2018- 94,442 करोड़ रुपये
    >> अक्टूबर 2018- 1,00,710 करोड़ रुपये
    >> नवंबर 2018- 97,637 करोड़ रुपये
    >> दिसंबर 2018- 94,725 करोड़ रुपये
    >> जनवरी 2019- 1.02 लाख करोड़ रुपये
    >> फरवरी 2019- 97,247 करोड़ रुपये
    >> मार्च 2019- 1.06 लाख करोड़ रुपये

    ये भी पढ़ें: आज से बदल गए टैक्स से जुड़े ये 5 नियम, जान लें वरना हो सकता है नुकसान

    ये भी पढ़ें: खरगोश कराएगा अच्छी कमाई, हर साल मिलेंगे 7 से 8 लाख रुपये

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.