लाइव टीवी
Elec-widget

GST Council Meeting: महंगा हुआ चाय-कॉफी पीना, होटल में ठहरने के लिए देना होगा इतना GST

News18Hindi
Updated: September 20, 2019, 9:24 PM IST
GST Council Meeting: महंगा हुआ चाय-कॉफी पीना, होटल में ठहरने के लिए देना होगा इतना GST
GST Counicl ने 37वें बैठक में कैफिनेटेड ड्रिंक्स (Caffeinated drink) पर GST को 18 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया है. इसपर 12 फीसदी का सेस भी लगता है.

GST Counicl ने 37वें बैठक में कैफिनेटेड ड्रिंक्स (Caffeinated drink) पर GST को 18 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया है. इसपर 12 फीसदी का सेस भी लगता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2019, 9:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वस्तु एवं सेवा कर काउंसिल (GST Council) की 37वीं बैठक से ठीक पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इंडिया इंक को बूस्टर डोज दे दिया है. हालांकि इसके ठीक बाद जीएसटी काउंसिल ने कैफिनेटेड ड्रिंक्स (Caffeinated drinks) पर GST  दरों को बढ़ा कर झटका भी दे दिया. इस फैसले के बाद अब कैफिनेटेड ड्रिंक्स पर लगने वाला 18 फीसदी का जीएसटी बढ़कर 28 फीसदी हो गया है. इसके साथ ही कैफिनेटेड ड्रिंक्स पर 12 फीसदी का सेस भी लगता है. CNBC TV18 ने सूत्रों के हवाले इसके बारे में जानकारी दी है.



क्या होता है कैफिनेटेड ड्रिंक
कैफिनेटेड ड्रिंक वो ड्रिंक होता है, जिसमें कैफीन की मात्रा होती है. आमतौर कॉफी और चाय (Tea and Coffee) समेत कई तरह के एनर्जी ड्रिंक (Energy Drink) में भी कैफीन (Caffeine) पाया जाता है. कैफीन हमारे दिमाग और नर्वस सिस्टम (Nervous System) पर असर डालता है.

tea and Coffee


ये भी पढ़ें: मोदी सरकार का बड़ा ऐलान! खत्म किया मिनिमम अल्टरनेट टैक्स, जानिए क्या होगा असर

होटल में ठहरना होगा सस्ता
Loading...

जीएसटी काउंसिल ने गोवा में चल रहे 37वें बैठक में होटल टैरिफ (Hotel Tariff) पर टैक्स कटौती के प्रस्ताव को मान लिया है. काउंसिल के इस फैसले के बाद अब 7,500 रुपये से अधिक के रूम पर 18 फीसदी जीएसटी लगेगा. वहीं, 7,500 रुपये से कम के रूम पर यह टैक्स 12 फीसदी होगा.



CNBC TV18 ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि जीएसटी काउंसिल ने बिस्किट पर जीएसटी घटाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है. साथ ही ऑटोमोबाइल्स पर जीएसटी घटाने पर विचार भी नहीं किया गया. जीएसटी काउंसिल ने आउटडोर केटरिंग पर लगने वाले जीएसटी घटाकर 5 फीसदी करने का फैसला लिया है.

जीएसटी दरों में कटौती की मांग
बता दें कि जीएसटी काउंसिल की 37वीं बैठक गोवा में चल रही है. काउंसिल की इस बैठक से पहले ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री से लेकर FMCG सेक्टर तक को GST दरों में कटौती को उम्मीद है. ​आ​र्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) के दौर में मांग व खपत को बढ़ाने के ​लिए इन इंडस्ट्रीज ने जीएसटी दरों में कटौती की मांग की है.

दरों में कटौती से रेवेन्यू घटने का डर
हालांकि, जीएसटी काउंसिल की फिटमेंट कमेटी (Fitment Committee) ने 200 वस्तुओं पर जीएसटी दरों में कटौती करने के फैसले को खारिज कर दिया है. फिटमेंट कमेटी ने इसके पीछे कारण बताते हुए कहा है कि इससे जीएसटी रेवेन्यू (GST Revenue) में कमी आएगी. कई राज्यों ने भी जीएसटी रेवेन्यू कम होने का हवाला देते हुए जीएसटी दरों में कटौती का विरोध किया था.

ये भी पढ़ें: क्या आप इन 12 करोड़ किसानों में हैं शामिल जिन्हें नहीं मिला तीसरी किश्त का पैसा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 20, 2019, 7:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com