Home /News /business /

11 महीने में 20 हजार करोड़ रुपये की GST चोरी पकड़ी गई, जानें कितने करोड़ की हुई वसूली

11 महीने में 20 हजार करोड़ रुपये की GST चोरी पकड़ी गई, जानें कितने करोड़ की हुई वसूली

चालू वित्त वर्ष में अब तक 20,000 करोड़ रुपये मूल्य की जीएसटी चोरी पकड़ी जा चुकी है. इसमें से 10 हजार करोड़ रुपये की वसूली की जा चुकी है.

चालू वित्त वर्ष में अब तक 20,000 करोड़ रुपये मूल्य की जीएसटी चोरी पकड़ी जा चुकी है. इसमें से 10 हजार करोड़ रुपये की वसूली की जा चुकी है.

चालू वित्त वर्ष में अब तक 20,000 करोड़ रुपये मूल्य की जीएसटी चोरी पकड़ी जा चुकी है. इसमें से 10 हजार करोड़ रुपये की वसूली की जा चुकी है.

    केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष में अब तक 20,000 करोड़ रुपये की गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) चोरी पकड़ी है. इसमें से 10 हजार करोड़ रुपये की वसूली की जा चुकी है. सरकार जीएसटी फर्जीवाड़ों को रोकने और नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था के नियमों का अधिक से अधिक पालन सुनिश्चित करने के लिए अधिक से अधिक उपाय करेगी. कर विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी. (ये भी पढ़ें: रेलवे ने शुरू की नई सर्विस, अब ऑनलाइन देख सकेंगे ट्रेन का चार्ट और खाली बर्थ)

    सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज ऐंड कस्टम्स (जांच) के सदस्य जॉन जोसेफ ने कहा कि रियल एस्टेट क्षेत्र में जीएसटी दरों में कटौती के बाद क्षेत्र के समक्ष पैदा हुई समस्याओं को समझने के लिए सेक्टर के प्रतिनिधियों की एक बैठक बुलाई जाएगी.

    केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और राज्यों के वित्त मंत्रियों की अध्यक्षता वाली GST काउंसिल ने इस सप्ताह की शुरुआत में निर्माणाधीन और किफायती मकानों पर जीसएटी दर को घटाकर क्रमशः 5 फीसदी और 1 फीसदी करने का फैसला किया. हालांकि, बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि अब बिल्डर सीमेंट, इस्पात जैसी वस्तुओं पर चुकाए गए टैक्स पर इनपुट टैक्स क्रेडिट (ITC) का दावा नहीं कर पाएंगे.

    ये भी पढ़ें: Paytm ने पेश किया जीरो बैलेंस करंट अकाउंट, मिलेंगी ये सुविधाएं

    इससे पहले, निर्माणाधीन मकानों पर जीएसटी की दर 12 फीसदी और किफायती मकानों पर जीएसटी दर 8 फीसदी थी और बिल्डर को इनपुट टैक्स क्रेडिट का दावा करने का अधिकार था. जोसेफ ने कहा कि रियल एस्टेट सेक्टर को शहरी विकास मंत्रालय के समक्ष मुद्दे को उठाना पड़ेगा. बिल्डरों की मांग है कि उन्हें इनपुट टैक्स क्रेडिट का दावा करने का अधिकार मिलना चाहिए.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Business news in hindi, Gst, GST council meeting, GST rate, GST return, GSTN

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर