Home /News /business /

GST बिल में हेरफेर करने वालों पर सख्‍त हुआ CBIC, टैक्स रिटर्न में हेरफेर हुई ताे तुरंत रद्द हाेगा जीएसटी रजिस्ट्रेशन

GST बिल में हेरफेर करने वालों पर सख्‍त हुआ CBIC, टैक्स रिटर्न में हेरफेर हुई ताे तुरंत रद्द हाेगा जीएसटी रजिस्ट्रेशन

देश में कोरोना के प्रतिबंधों को लेकर व्‍यापारियों ने वित्‍त मंत्री से जीएसटी और इनकम टैक्‍स प्रावधानों में छूट की मांग की है.

देश में कोरोना के प्रतिबंधों को लेकर व्‍यापारियों ने वित्‍त मंत्री से जीएसटी और इनकम टैक्‍स प्रावधानों में छूट की मांग की है.

सेंट्रल बाेर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम (CBIC) ने फील्ड ऑफिसर्स काे निर्देश दिया है कि वे किन पैमानों पर गड़बड़ नजर आने के बाद जीएसटी रजिस्ट्रेशन (GST Registration) निलंबित कर सकते हैं और किस स्थिति में निलंबन हटा सकते हैं. 

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. वस्‍तु व सेवा कर बिल (GST Bills) में हेरफेर करने वालाें को लेकर सेंट्रल बाेर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम (CBIC) अब सख्‍त हो गया है. सीबीआईसी की ओर से जारी किए गए ऑपरेटिंग प्राेसिजर (SOP) के मुताबिक, अब अगर किसी ने टैक्‍स रिटर्न में गड़बड़ी की तो सीधे उसका जीएसटी रजिस्ट्रेशन ही रद्द हाे जाएगा. सीबीआईसी के मुताबिक, सेल्स रिटर्न फाइल करने के बाद सप्लायर के बिल से मैच नहीं करने पर जीएसटी रजिस्‍ट्रेशन रद्द होगा.

    सीबीआईसी ने फील्ड ऑफिसर्स काे निर्देश दे दिया है कि उन्हें किन पैमानों पर गड़बड़ नजर आने के बाद रजिस्ट्रेशन निलंबित करना है और किस के बाद निलंबन हटा सकते हैं. इसमें पूछताछ के समय टैक्सपेयर सवालाें का संताेषजनक उत्तर दे देता है तो निलंबन वापसी की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी. एसओपी में यह भी निर्देशित किया गया है कि निलंबित रजिस्ट्रेशन काे दाेबारा तभी शुरू किया जाए, जब बकाया टैक्स वसूल लिया जाए. पूछताछ और छानबीन के दाैरान गड़बड़ मिलने पर उन्हें सीधे कैंसल भी कर सकते हैं.  

    ये भी पढ़े – Exclusive: युवराज सिंह की मुश्किलें बढ़ीं, हरियाणा पुलिस ने SC/ST Act में दर्ज की FIR

    जनवरी 2021 में उच्‍चस्‍तर पर पहुंचा जीएसटी कलेक्‍शन
    जीएसटी रजिस्ट्रेशन का तुरंत निलंबन उन मामलाें में हाेगा, जहां यह लगे कि इसे आगे जारी रहने देने पर फिर गड़बड़ी हाेगी. बता दें कि लगातार चार महीनाें में जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपये का हुआ है. जनवरी 2021 में जीएसटी कलेक्‍‍‍‍‍शन 1.20 लाख करोड़ रुपये के उच्चस्तर पर पहुंच गया है. वहीं, सरकार की फेक इनवाइस रैकेट्स के खिलाफ चल रही मुहिम के तहत नवंबर 2020 के मध्य से अब तक 8,000 संस्थाओं के खिलाफ 2,500 मामले दर्ज किए गए हैं. आठ चार्टर्ड अकाउंटेंट समेत 258 लाेगाें काे गिरफ्तार किया जा चुका है.

    ये भी पढ़ें- Good News: सरकारी कर्मियों के महंगाई भत्‍ते में होगी 4 फीसदी बढ़ोतरी! जानें यात्रा भत्‍ता में कितना होगा इजाफा

    फेक इनवॉयस को लेकर सख्‍त है केंद्र सरकार का रुख
    केंद्र सरकार ने लेखा नियम निर्माता और स्व-नियामक इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) को गलत सीए के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए सूचित किया है. फेक इनवाइस का इस्तेमाल न सिर्फ जीएसटी और आयकर से बचने के लिए किया जाता है, बल्कि कंपनियों से धन निकालने के लिए भी किया जाता है. साथ ही बैंकों से कर्ज लेने के लिए भी इनका इस्‍तेमाल किया जाता है.   

    Tags: Business news in hindi, Goods and services tax (GST) on sales, GST collection, Gst latest news in hindi, Gst news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर