Home /News /business /

मात्र 10 रुपये में सरकार देती है ये 19 सुविधाएं, जान गए तो आपको होगा बड़ा फायदा

मात्र 10 रुपये में सरकार देती है ये 19 सुविधाएं, जान गए तो आपको होगा बड़ा फायदा

हरियाणा सरकार के लेबर वेलफेयर स्कीम के तहत श्रमिकों को मात्र 10 रुपये में 19 तरह की सुविधाएं मिलती हैं.

हरियाणा सरकार के लेबर वेलफेयर स्कीम के तहत श्रमिकों को मात्र 10 रुपये में 19 तरह की सुविधाएं मिलती हैं.

Labour welfare schemes: हरियाणा में श्रमिक की तीन बेटियों की शादी के लिए 1.53 लाख रुपये मिलता है. साथ ही मृत्यु के बाद भी श्रमिकों के बच्चों को कई तरह की सुविधाएं मिलेंगी.

    नई दिल्ली. श्रमिकों (Labours) को लेकर कई कानून व सुविधाएं होती तो हैं, लेकिन बहुत कम ही लोगों को इसके बारे में पता होता. आज एक ऐसी स्कीम ( Labour Welfare Schemes) के बारे में बता रहे हैं जो कि जो श्रमिकों के बड़े काम की है. इस स्कीम के तहत मात्र 10 रुपये मासिक कंट्रिब्यूशन पर 19 ऐसी सुविधाएं मिलती हैं, जिनके लिए आम तौर पर मोटी रकम खर्च करनी होती है. इस स्कीम के तहत अगर किसी व्यक्ति को 3 बेटियां और दो बेटे 9वीं और 10वीं क्लास में पढ़ाई करते हैं, तो उस श्रमिक को इसके लिए सालाना 31 हजार रुपये सरकार की तरफ से दिए जाएंगे. अगर किसी श्रमिक की शादी होती है तो उसे सरकार की तरफ से 51,000 रुपये दिए जाएंगे. यह तीन बेटियों के लिए ही मान्य होगा, जबकि श्रमिकों की पत्नी की डि​लीवरी के समय 10,000 रुपये मिलेंगे.

    साथ ही, इस स्कीम के तहत उस संस्थान को प्रतिमाह 20,000 रुपये जमा करने होंगे जिसमें वह काम करता है. बता दें कि श्रमिकों की यह खास स्कीम हरियाणा की है, जहां विधानसभा चुनाव 2019 की वोटों की गिनती चल रही है. इस योजना के तहत श्रमिको की सर्विस एक साल होनी चाहिए और उनकी सैलरी प्रतिमाह 25,000 रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए. आइए जानते हैं कि अगर आप हरियाणा में रहते हैं तो इस स्कीम का कैसे फायदा उठा सकते हैं.

    ये भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट के फैसले से Bharti Airtel समेत बड़ी टेलीकॉम कंपनियों को लगा करोड़ों का झटका! जानिए पूरा मामला

    (1) अगर किसी श्रमिक के लड़के—लड़कियां पहली से 12वीं कक्षा तक पढ़ाई जारी रखते हैं तो इसके लिए उन्हें स्कूल ड्रेस, किताब-कापियां आदि खरीदने के ​लिए हर साल 3 से 4 हजार रुपये की मदद मिलेगी.

    (2) श्रमिकों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति योजना: 9वीं से 10वीं तक लड़कों के लिए 5000, लड़कियों के लिए 7000 रुपये प्रति वर्ष. 11वीं से 12वीं के लड़कों के लिए 5500, लड़कियों के लिए 7750 रुपये. यह सुविधा मेडिकल पढ़ाई तक भी पैसा बढ़ाकर दी जाएगी.

    (3) श्रमिकों के बच्चों को खेलकूद (Sports) के लिए: प्रतियोगिता के आधार पर 2000 से 31000 रुपये तक दिया जाएगा.

    (4) श्रमिकों के बच्चों को कल्चरल प्रतियोगिताओं में स्थान प्राप्त करने पर 2000 से 31000 रुपये तक दिया जाएगा.

    (5) श्रमिक की किसी भी कारण से मृत्यु होने पर उसकी विधवा या आश्रित को 2,00,000 रुपये की सहायता राशि दी जाएगी.

    ये भी पढ़ें: HPCL के साथ इस कंपनी को भी बनाया गया 'महारत्न', बदल जाएंगी ये चीजें

    (6) श्रमिक की कार्य स्थल या बाहर किसी भी कारण से मृत्यु होने पर दाह संस्कार के लिए 15000 रुपये.

    (7) कार्यस्थल पर काम करते वक्त मौत होने पर आश्रित को 5 लाख रुपये की मदद दी जायेगी.

    (8) श्रमिकों को साईकिल खरीदने पर 3000 रुपये. (वेतन सीमा-18,000 रुपये)

    (9) श्रमिकों को चश्मे के लिए 1500 रुपये तक की मदद.

    (10) तीन लड़कियों की शादी के लिए 51-51 हजार रुपये की मदद.

    (11) महिला श्रमिकों तथा श्रमिकों की पत्नियों को डिलीवरी पर 10-10 हजार रुपये. दो बार के लिए दिये जाएंगे.

    ये भी पढ़ें: छोटे कारोबारियों को राहत, मल्टी ब्रैंड रिटेल में 100% FDI नहीं बढ़ाएगी सरकार

    (12) श्रमिकों की सेवा के दौरान दुर्घटना या अन्य कारण से दिव्यांग होने पर: 1.5 लाख रुपये तक की मदद.

    (13) श्रमिकों और उनके आश्रितों को डेंटल केयर व जबड़ा लगवाने के लिए 4 से 10 हजार रुपये तक की मदद.

    (14) श्रमिकों की किसी भी दुर्घटना में अपंग हुए श्रमिकों व उनके आश्रितों को कृत्रिम अंगों (Artificial Limbs) के लिए सहायता मिलती है.

    (15) बधिर श्रमिकों व उनके बधिर आश्रितों को श्रवण मशीन के लिए 5000 (पांच साल में एक बार)

    (16) श्रमिकों को नई सिलाई मशीन खरीदने के लिए 3500 रुपये (पांच साल में एक बार लेकिन सर्विस 2 साल होनी चाहिए)

    (17) दिव्यांग श्रमिकों तथा उनके आश्रितों को तिपहिया साईकिल के लिए 7000 रुपये.

    ये भी पढ़ें: Ease of Doing Business: भारत की रैंकिंग में जबरदस्त उछाल, 63वें नंबर पर पहुंचा देश

    (18) पांच साल की सर्विस पर श्रमिकों को 1500 रुपये LTC (Leave Travel Concession) की सुविधा.

    (19) श्रमिकों के दिव्यांग बच्चों को 20,000 से 30,000 रुपये. इसके तहत सर्विस और वेतन की सीमा तय नहीं है.

    Tags: Business news in hindi, Haryana news, Labour Court, Labour department, Labour minister

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर