शेयर बाजार गिरावट पर सरकार की सफाई, 'टैक्स लगाने से नहीं लुढ़का सेंसेक्स'

वित्त सचिव हसमुख अधिया का कहना है कि घरेलू शेयर बाजार में गिरावट लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस टैक्स की वजह से नहीं आई है.

News18Hindi
Updated: February 5, 2018, 12:47 PM IST
शेयर बाजार गिरावट पर सरकार की सफाई, 'टैक्स लगाने से नहीं लुढ़का सेंसेक्स'
शेयर बाजार में आई भारी गिरावट को लेकर राजस्व सचिव हसमुख आधिया ने बड़ा बयान दिया है.
News18Hindi
Updated: February 5, 2018, 12:47 PM IST
वित्त सचिव हसमुख अधिया का कहना है कि घरेलू शेयर बाजार में गिरावट लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस टैक्स की वजह से नहीं आई है, बल्कि अमेरिका और एशियाई बाजारों के लुढ़कने की वजह से है. आपको बता दें कि बजट के बाद से बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 1000 अंक से ज्यादा लुढ़क गया है. इस दौरान निवेशकों की 5 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की पूंजी कम हो गई है. हालांकि, एक्सपर्ट्स का मानना है कि छोटे निवेशकों के लिए गिरावट पर खरीदारी करने का बड़ा मौका है, क्योंकि लॉन्ग टर्म  में भारतीय बाजार अच्छा प्रदर्शन करते नजर आएंगे.

शेयर बाजार की गिरावट पर सरकार की सफाई
शेयर बाजार में आई भारी गिरावट को लेकर राजस्व सचिव हसमुख आधिया ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि शेयर बाजार में 2 दिन से जो गिरावट हावी है वह बजट में प्रस्तावित लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स (LTCG) की वजह से नहीं है बल्कि अंतरराष्ट्रीय बाजारों में आई गिरावट की वजह से है, उन्होंने कहा कि वैश्विक बाजारों में गिरावट आने की लहर से भारतीय बाजार पर खराब असर पड़ा है.

10 फीसदी टैक्स दर काफी कम

अधिया के मुताबिक यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस टैक्स की घोषणा ऐसे समय में हुई है जब विदेशी शेयर बाजारों में गिरावट की वजह से भारतीय बाजार में भी बिकवाली आई है.पिछले हफ्ते MSCI-All Counties Index में 3-4 फीसदी तक गिर गए हैं और यही वजह है कि भारतीय बाजार में भी गिरावट आई है. उद्योग समूह सीआईआई (CII) के कार्यक्रम में उन्होंने कहा प्रतिशत लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स 10 फीसदी लगाने का प्रस्ताव है और यह काफी रियायती दर है.

 



शेयर बाजार की कमाई पर लगेगा 10 फीसदी टैक्स
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पहली फरवरी को पेश किए बजट में शेयर बाजार में लंबी अवधि के निवेशकों की कमाई पर 10 फीसदी लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगाने का प्रस्ताव किया है. इसके तहत 1 साल से ऊपर के निवेश पर अगर सालाना 1 लाख रुपए से ज्यादा की कमाई होती है तो निवेशक से उस कमाई पर 10 फीसदी टैक्स देना होगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर