होम /न्यूज /व्यवसाय /शेयर बाजार के 2 दिग्गज स्टॉक 52 हफ्तों के Low पर, एक्सपर्ट बोले- ये लंबी रेस के घोड़े

शेयर बाजार के 2 दिग्गज स्टॉक 52 हफ्तों के Low पर, एक्सपर्ट बोले- ये लंबी रेस के घोड़े

HDFC और HDFC Bank ने मंगलवार को अपने 52 हफ्तों के नए Low बनाए हैं.

HDFC और HDFC Bank ने मंगलवार को अपने 52 हफ्तों के नए Low बनाए हैं.

HDFC और HDFC Bank ने मंगलवार को अपने 52 हफ्तों के नए Low बनाए हैं. हालांकि दोनों ने ही शानदार रिकवरी भी की. एक्सपर्ट्स ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. पिछले कई दिनों से भारतीय शेयर बाजार (Indian Share Market) लगातार नीचे की तरफ आ रहे हैं. यह गिरावट ऐसी है कि इसमें बड़े-बड़े शेयर टिक नहीं पाए हैं. एचडीएफसी (HDFC) के शेयर फिलहाल 52 हफ्तों के निम्नतम स्तर पर ट्रेड कर रहे हैं. एचडीएफसी के साथ एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) का स्टॉक भी अपने 52 हफ्तों के निचले स्तर पर ही है. भारतीय शेयर बाजार के इन दो दिग्गज शेयरों में भविष्य में क्या हो सकता है इसके बारे में जानने के लिए हमने एक्सपर्ट की राय ली.

शेयर बाजार के जानकारों का कहना है रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध की वजह से भारतीय बाजार का ओवरऑल सेंटीमेंट नेगेटिव है. FIIs लगातार पैसा निकाल रहे हैं और सुरक्षित जगहों पर निवेश कर रहे हैं. परंतु यह दो दिग्गज शेयर ज्यादा समय तक शांत नहीं रहने वाले. बहुत जल्द इसमें एक स्थिरता देखी जाएगी और फिर उसके बाद इनमें तेजी भी देखी जा सकेगी.

ये भी पढ़ें – पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर सरकार ने क्या कहा? जानिए

हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन (HDFC) की बात करें तो कल मंगलवार को इसने 2046 रुपये का Low बनाया. हालांकि बाजार में शाम को अच्छी रिकवरी आने के चलते ये 2151.70 रुपये पर बंद होने में कामयाब रहा. इसी तरह HDFC Bank के शेयर 1292 रुपये का Low बनाकर 1327.80 रुपये पर बंद हुआ.

FIIs की बिकवाली से है प्रेशर
मार्केट एक्सपर्ट अजय बग्गा ने CNBCTV18.com को बताया, “भारत के फाइनेंशियल सेक्टर की वैल्युएशन आकर्षक स्तरों पर है. लेकिन एफआईआई (FII) की बिकवाली कीमतों को सेटल और कंसॉलिडेट नहीं होने दे रही है. अभी तक, हम ग्लोबल कीमतों के ट्रेंड को फॉलो कर रहे हैं.”

ये भी पढ़ें – अपनी पत्नी के लिए गंजे हुए Zerodha के फाउंडर नितिन कामत! शेयर की एक जरूरी सीख

प्रोविजनल डाटा से पता चलता है कि मार्च, 2022 में अभी तक FII भारतीय इक्विटी मार्केट से 26,096.7 करोड़ रुपये निकाल चुके हैं, जो दलाल स्ट्रीट के लिए आउटफ्लो का छठा महीना हो सकता है. अक्टूबर से फरवरी तक, उन्होंने कुल 1.9 लाख करोड़ रुपये की बिकवाली की है.

सबसे ज्यादा बिकवाली फाइनेंशियल कंपनियों में
बग्गा ने कहा, “ईएम फंड्स में पूंजी का प्रवाह दिखने के बावजूद, भारत में FII की बिकवाली बनी हुई है. सबसे ज्यादा बिकवाली फाइनेंशियल कंपनियों में हो रही है. एक बार बिकवाली कम होने पर हम बॉटम बनता देखेंगे और फिर तेजी देखने को मिलेगी.”

रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia-Ukraine war) और क्रूड ऑयल (crude oil) की कीमतों में तेजी के चलते जारी अनिश्चिता के कारण इनवेस्टर्स सतर्क हैं. यह ऐसे समय हुआ है, जब महामारी के दौर में समय से पहले ब्याज दरों में बढ़ोतरी की आशंका से सेंटीमेंट बिगड़ा हुआ है.

ये भी पढ़ें – डॉलर के मुकाबले रुपये के 80-82 तक गिरने की आशंका, ऐसा हुआ तो क्या होगा? जानिए

लंबी अवधि के लिए लगा सकते हैं दांव
सोमवार तक, भारतीय इक्विटी बेंचमार्क अपने अक्टूबर, 2021 के ऑल टाइम हाई से 15 फीसदी नीचे है. इससे पहले लिक्विडिटी के दम पर सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में शानदार रैली देखने को मिली थी.

आईडीबीआई कैपिटल मार्केट्स के हेड (रिसर्च) एके प्रभाकर दीर्घावधि का नजरिया रखने वाले इनवेस्टर्स को एचडीएफसी ग्रुप के स्टॉक्स (HDFC group stocks) में खरीदारी की सलाह देते हैं, उनके मुताबिक ये शेयर “बेहद आकर्षक” स्तरों पर कारोबार कर रहे हैं.

Tags: Bank stocks, Investment, Stock tips

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें