देश के इस बड़े प्राइवेट बैंक ने ग्राहकों को दिया तोहफा! कम हुआ EMI का बोझ

देश के इस बड़े प्राइवेट बैंक ने ग्राहकों को दिया तोहफा! कम हुआ EMI का बोझ
HDFC बैंक ने MCLR में 0.05 फीसदी की कटौती की

एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट्स (MCLR) 5 बेसिस प्वाइंट्स यानी 0.05 फीसदी की कटौती की है. यह कटौती हर अवधि की एमसीएलआर (MCLR) पर की गयी है. बैंक की वेबसाइट के अनुसार नई दरें 8 जून से प्रभावी हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्राइवेट सेक्टर के एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट्स (MCLR) 5 बेसिस प्वाइंट्स यानी 0.05 फीसदी की कटौती की है.  यह कटौती हर अवधि की एमसीएलआर (MCLR) पर की गयी है. बैंक की वेबसाइट के अनुसार नई दरें 8 जून से प्रभावी हैं. एचडीएफसी बैंक के अनुसार एक दिन के लिये एमसीएलआर को कम कर 7.30 प्रतिशत जबकि एक महीने की अवधि के लिये 7.35 प्रतिशत किया गया है. एक साल की एमसीएलआर अब 7.65 प्रतिशत होगी. ज्यादातर कंज्यूमर लोन इसी से जुड़े होते हैं. वहीं 3 साल की एमसीएलआर अब 7.85 प्रतिशत होगी.

रिजर्व बैंक (RBI) के नीतिगत दर में कटौती के बाद अन्य बैंकों के एमसीएलआर में कटौती के बीच एचडीएफसी ने यह कदम उठाया है. कोविड-19 महामारी (COVID-19 Pandemic) और लॉकडाउन (Lockdown) से अर्थव्यवस्था को उबारने और उसे पटरी पर लाने के लिये आरबीआई मार्च से अबतक प्रमुख नीतिगत दर (रेपो) में 1.15 प्रतिशत की कटौती कर चुका है. बैंक हर महीने अपनी एमसीएलआर की समीक्षा करते हैं.

ये भी पढ़ें- बदल सकता है चेक बाउंस से जुड़ा कानून, सरकार कर रही है विचार



SBI का कर्ज भी हुआ सस्ता
भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने लगातार 13वीं बार MCLR में कटौती किया है. SBI ने सोमवार को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि नई दरें 10 जून 2020 से लागू हो जाएंगी. SBI ने मॉजिर्नल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स (MCLR) में 25 आधार अंक यानी 0.25 फीसदी की कटौती की है. इसके बाद एक साल का MCLR घटकर 7 फीसदी हो गया है. इसके साथ ही, SBI ने बेस रेट में भी 75 आधार अंकों की कटौती किया है. SBI ने एक बयान में बताया कि इस कटौती के बाद बेस रेट 8.15 फीसदी से घटकर 7.40 फीसदी हो गया है. इसे भी 10 जून से लागू कर दिया जायेगा.

IOB ने भी घटाईं ब्याज दरें
सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB) ने MCLR से जुड़े लोन की ब्‍याज दर में 0.30 फीसदी की कटौती कर दी है. वहीं, एक महीने से एक साल की अवधि तक के ऐसे कर्ज की ब्‍याज दर 0.20 फीसदी घटा दी है. नई ब्‍याज दरें 10 जून से प्रभावी हो जाएंगी. इंडियन ओवरसीज बैंक ने रेपो लिंक्‍ड लेंडिंग रेट से जुड़े कर्ज पर भी ब्‍याज दर 7.25 फीसदी से घटाकर 6.85 फीसदी कर दिया है.

ये भी पढ़ें- नौकरी करने वालों के लिए बड़ी खबर! अब सिर्फ 3 दिन में निकल रही है PF की रकम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज