लाइव टीवी

HDFC बैंक ने लॉकडाउन में ग्राहकों को दिया बड़ा तोहफा, इतनी सस्ती हुई आपके लोन की EMI

News18Hindi
Updated: May 23, 2020, 2:23 PM IST
HDFC बैंक ने लॉकडाउन में ग्राहकों को दिया बड़ा तोहफा, इतनी सस्ती हुई आपके लोन की EMI
एचडीएफसी बैंक

RBI फैसले के बाद प्राइवेट बैंक एचडीएफसी (HDFC Bank) ने अपने ग्राहकों को इस लॉकडाउन में राहत देते हुए ब्याज दरें घटा दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश के बड़े प्राइवेट बैंक एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने अपने ग्राहकों को इस लॉकडाउन में राहत देते हुए ब्याज दरें घटा दी है. बैंक ने बेस रेट (HDFC Bank Base Rate Cut) 0.55 फीसदी घटाकर 8.10 फीसदी कर दिया है. इस फैसले के बाद बेस रेट पर आधारित सभी लोन की EMI 0.55 फीसदी तक घट जाएगी. आपको बता दें कि एक जुलाई 2010 (लेकिन 1 अप्रैल 2016 के पहले ) के बाद लिए गए सभी होम लोन (Home Loan) बेस रेट पर आधारित हैं. इस मामले में बैंकों को यह आजादी है कि वे कॉस्ट ऑफ फंड्स की गणना औसत फंड कोस्ट के हिसाब से करें या एमसीएलआर के हिसाब से करें.

हर महीने आप जो किस्त चुकाते हैं उसमें ब्याज के साथ मूलधन भी होता है. यह मूलधन आपके वास्तविक मूलधन से घटा दिया जाता है. वास्तव में हर महीने आपके ब्याज की रकम कम और मूलधन की रकम बढ़ती जाती है. अधिकतर बैंक मंथली रिड्यूसिंग बैलेंस आधारित अप्रोच अपनाते हैं.

RBI ने घटाईं ब्याज दरें-  रिजर्व बैंक आफ इंडिया (RBI) ने रेपो रेट 0.40 फीसदी की कटौती की है. रेपो रेट अब घटकर 4.40 फीसदी की जगह 4 फीसदी पर आ गई है. इसके पहले मार्च में भी रेपो रेट में 0.75 फीसदी की कटौती की थी.



RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि MPC की बैठक में 6 में से 5 सदस्यों ने ब्याज दरें घटाने के पक्ष में सहमति जताई.



आरबीआई ने लोन मोरेटोरियम की अवधि को भी 3 महीने बढ़ाने का एलान किया. अब लोन पर मोरेटोरियम की अवधि अगस्त तक बढ़ा दिया गया है.

अब आप अपने लोन की ईएमआई को 3 महीने और रोकने का विकल्प ले सकते हैं. पहले यह मार्च से मई तक के लिए था, जो अब मार्च से अगस्त तक के लिए हो गया है.

ये भी पढ़ें-EMI चुकाने की छूट 3 महीने बढ़ी, Loan सस्ते करने के लिए रेपो रेट 0.40% कम किया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 2:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading