• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • यह बैंक पुराने ऑटो लोन पर दे रहा है 18 हजार रुपए का रिफंड, फटाफट करें क्लेम

यह बैंक पुराने ऑटो लोन पर दे रहा है 18 हजार रुपए का रिफंड, फटाफट करें क्लेम

रिजर्व बैंक ने 10 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाते हुए एचडीएफसी बैंक (Hdfc Bank) को रिफंड के दिए थे निर्देश

एचडीएफसी बैंक (Hdfc Bank) वर्ष 2013-14 से 2019-20 के दौरान ऑटो लोन (Auto Loan) लेने वालों को जीपीएस उपकरण कमीशन लौटाएगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऑटो लोन (Auto Loan) में खामियां एचडीएफसी बैंक (Hdfc Bank) को भारी पड़ी है. रिजर्व बैंक (Reserve Bank) के आदेश पर अब बैंक वर्ष 2013-14 से 2019-20 के दौरान ऑटो लोन लेने वालों को जीपीएस उपकरण कमीशन (GPS Equipment Commissioning) का रिफंड करेगा. बैंक ने इसकी सार्वजनिक सूचना जारी की है.
    एचडीएफसी बैंक पर यह आरोप लगा था कि ऑटो लोन लेने वाले ग्राहकों को बैंक ने 18,000 रुपए से ज्यादा की कीमत पर जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) उपकरण खरीदने के लिए मजबूर किया था. इस पर रिजर्व बैंक ने भी इस साल की शुरुआत में कर्ज वितरण में खामियों को लेकर बैंक पर 10 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया था. गौरतलब है कि पिछले साल बैंक के तत्कालीन मुख्य कार्यकारी अधिकारी आदित्य पुरी ने खास आरोपों के सामने आने के बाद ऑटो लोन वितरण में गड़बड़ियों की बात मानी थी.
    यह भी पढ़ें : पीएफ अकाउंट को आधार से लिंक कराने में हो रही है दिक्कत तो पहले करें यह काम, जानें पूरी प्रोसेस
    टोल फ्री नंबर पर बैंक में कमीशन वापसी के लिए कर सकते हैं क्लेम
    एचडीएफसी बैंक के प्रवक्ता ने न्यूज 18 को बताया कि बैंक अपने रिकॉर्ड के हिसाब से सभी को पैसे उनके अकाउंट में रिफंड कर रहा है. फिर भी, यदि किसी तरह की पूछताछ या अकाउंट बंद होने जैसी किसी अन्य वजह से पैसे नहीं आ पाते हैं तो वर्किंग डे में 18002102678 पर सुबह 9:30 से 5:30 बजे तक कॉल कर अपना क्लेम प्रस्तुत कर सकते हैं. साथ ही, auto.refund@hdfcbank.com पर भी ईमेल कर सकते हैं. इसके लिए ग्राहकों को अपने ऑटो लोन अकाउंट का नंबर का उल्लेख करना होगा. वहीं बैंक ने अपनी सार्वजनिक सूचना में कहा है कि रिफंड राशि बैंक में पंजीकृत ग्राहकों के रिफंड बैंक खाते में डाली जाएंगे. बैंक ने ग्राहकों से अगले 30 दिनों में संपर्क करने के लिए भी कहा है.



    यह भी पढ़ें :  इनकम टैक्स अलर्ट : फटाफट कर लें यह काम, नहीं तो रूक जाएगी आपकी सैलरी 
    ग्राहकों की निजता का भी हुआ था उल्लंघन
    बैंकों को कोई अन्य उत्पाद बेचने से रोकने वाले मौजूदा नियमों के उल्लंघन के अलावा प्राइवेसी को लेकर भी सवाल उठे थे. दरअसल, इस तरह के उपकरण से वाहन की लोकेशन की जानकारी हासिल की जा सकती है. इससे प्राइवेसी का उल्लंघन होता है. वहीं, अब एचडीएफसी बैंक को जीपीएस उपकरण कमीशन के करीब 50 करोड़ रुपए ग्राहकों को वापस करने होंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज