होम /न्यूज /व्यवसाय /

HDFC सिक्योरिटीज ने इस बैंकिंग स्टॉक को साल 2022 के लिए चुना टॉप पिक, जानिए कारण

HDFC सिक्योरिटीज ने इस बैंकिंग स्टॉक को साल 2022 के लिए चुना टॉप पिक, जानिए कारण

 ब्रोकरेज ने कहा कि पब्लिक सेक्टर के बैंकों में, SBI एक अच्छी PCR, मजबूत कैपिटलाइजेशन, शानदार लायबिलिटी फ्रेंचाइजी के साथ बेहतर विकल्प है.

ब्रोकरेज ने कहा कि पब्लिक सेक्टर के बैंकों में, SBI एक अच्छी PCR, मजबूत कैपिटलाइजेशन, शानदार लायबिलिटी फ्रेंचाइजी के साथ बेहतर विकल्प है.

HDFC Securities ने आगामी वर्ष 2022 के लिए अपने टॉप स्टॉक पिक में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) को भी चुना है. ब्रोकरेज का मानना है कि भारत का सबसे बड़ा बैंक अब लायबिलिटी से जुड़ी किसी भी तरह के जोखिम से लगभग मुक्त हो गया है. SBI के लोन बुक की क्वालिटी अच्छी है. यह दूसरे कई बड़े बैंकों की तुलना में एसेट क्वालिटी से जुड़ी चिंताओं को कम करने के लिए बेहतर स्थिति में है. ब्रोकरेज ने एक नोट में कहा, “SBI के लोन बुक की क्वालिटी अच्छी है. यह दूसरे कई बड़े बैंकों की तुलना में एसेट क्वालिटी से जुड़ी चिंताओं को कम करने के लिए बेहतर स्थिति में है. इसके अलावा भरपूर प्रोविजन कवरेज देने से, लगातार बढ़ने वाले लोन लॉस प्रोविजन में कमी आएगी."

अधिक पढ़ें ...

    मुंबई . ब्रोकिंग और रिसर्च फर्म HDFC सिक्योरिटीज (HDFC Securities) ने आगामी वर्ष 2022 के लिए अपने टॉप स्टॉक पिक की लिस्ट जारी की है. ब्रोकरेज ने इसमें बैंकिंग सेक्टर से अपने टॉप स्टॉक पिक में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) को चुना है. ब्रोकरेज का मानना है कि भारत का सबसे बड़ा बैंक अब लायबिलिटी से जुड़ी किसी भी तरह के जोखिम से लगभग मुक्त हो गया है.

    ब्रोकरेज ने एक नोट में कहा, “SBI के लोन बुक की क्वालिटी अच्छी है. यह दूसरे कई बड़े बैंकों की तुलना में एसेट क्वालिटी से जुड़ी चिंताओं को कम करने के लिए बेहतर स्थिति में है. इसके अलावा भरपूर प्रोविजन कवरेज देने से, लगातार बढ़ने वाले लोन लॉस प्रोविजन में कमी आएगी.”

    58% सेविंग अकाउंट्स YONO से खुले 
    HDFC सिक्योरिटीज ने आगे कहा, “डिजिटलीकरण के मोर्चे पर बात करें तो, बैंक के YONO ऐप का सभी मेट्रिक्स में मजबूत इंगेजमेंट पैदा करना जारी है. मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बैंक के 37% रिटेल एसेट अकाउंट और 58% सेविंग अकाउंट्स YONO के जरिए खोले गए थे.”

    यह भी पढ़ें- Multibagger Stock: इस पेनी स्टॉक से 3 साल में निवेशकों के 1 लाख रुपए 2 करोड़ बन गए, जानिए डिटेल

    सुधारों के कारण एसबीआई बना बेहतर विकल्प
    ब्रोकरेज ने कहा कि पब्लिक सेक्टर के बैंकों में, SBI एक अच्छी PCR, मजबूत कैपिटलाइजेशन, शानदार लायबिलिटी फ्रेंचाइजी और बेहतर एसेट क्वालिटी आउटलुक के साथ भारतीय अर्थव्यवस्था में आ रही रिकवरी पर दांव लगाने के लिए सबसे बेहतर विकल्प बना हुआ है.

    SBI ने इस साल 63% का रिटर्न दिया 
    हालांकि, SBI के साइज और एक्सपोजर को देखते हुए कुछ अहम खतरें भी हैं. इसमें विभिन्न भौगालिक इलाकों में प्राइवेट बैंकों की बढ़ती पैठ और मैक्रो-इकोनॉमिक से जुड़े खतरों के चलते इसके मार्केट शेयर में तेज गिरावट आने की संभावना एक प्रमुख चिंता है.

    बता दें कि SBI के शेयरों ने इस साल अब तक (ईयर-टू-डेट या YTD) करीब 63% का रिटर्न दिया है. वहीं पिछले एक साल में इसके शेयर में 70% से अधिक का उछाल आया है.

    मुनाफे में 66.7 पर्सेंट की उछाल आई
    मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में SBI के मुनाफे (प्रॉफिट ऑफ्टर टैक्स) में 66.7 पर्सेंट की उछाल आई थी. इसमें नेट इंटरेस्ट इनकम (NII) में बढ़ोतरी और एसेट क्वालिटी में सुधार का अहम योगदान रहा. बैंक ने पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 4,574 करोड़ रुपये का प्रॉफिट ऑफ्टर टैक्स दर्ज किया था. सिंतबर तिमाही में बैंक का नेट इंटरेस्ट इनकम 10.6 फीसद बढ़कर 31,184 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 28,181 करोड़ रुपये था.

    Tags: HDFC, Sbi, SBI Bank, Stock tips, Stocks

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर