अब इस कार कंपनी ने सैकड़ों लोगों को नौकरी से निकाला, जानें क्या रही वजह?

मारुती में काम करने वाले लोगों के लिए बड़ी खबर उपभोग घटने से आई सुस्ती की वजह से मारुति सुजुकी इंडिया ने 1,000 अस्थायी कर्मचारियों की छंटनी की है.

News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 9:18 AM IST
अब इस कार कंपनी ने सैकड़ों लोगों को नौकरी से निकाला, जानें क्या रही वजह?
इस कंपनी ने 1000 लोगों की छटनी
News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 9:18 AM IST
मारुती में काम करने वाले लोगों के लिए बड़ी खबर उपभोग घटने से आई सुस्ती की वजह से मारुति सुजुकी इंडिया ने 1,000 अस्थायी कर्मचारियों की छंटनी की है. इसके साथ ही मारुती ने नई भर्तियों को रोकने की योजना भी बनाई है. कंपनी मंदी से निपटने के लिए लागत में कटौती और अन्य उपाय तलाश रही है. इस मंदी की चपेट में कई वाहन कंपनियों की बिक्री न सिर्फ कम हुई है, बल्कि निचले स्तर पर पहुंच गई है.

ऑटो सेक्टर की कंपनियां घटा रही हैं प्रोडक्शन
एजेंसी की खबरों के मुताबिक, अस्थायी कर्मचारी सबसे पहले प्रभावित होते हैं और इस मामले में भी ऐसा ही हुआ. हालांकि कंपनी ने इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की गई. उद्योग के जानकारों का कहना है कि माह-दर-माह बिक्री गिरने और डीलरशिप पर इन्वेंट्री के बढ़ने से न सिर्फ मारुति सुजुकी, बल्कि अन्य वाहन कंपनियों को भी उत्पादन कम करना पड़ा है, जिसके कारण फैक्ट्री और खुदरा स्तर पर नौकरियां कम हो गई हैं.

ये भी पढ़ें: किसानों को मिलेगी 3000 रुपये पेंशन, यहां होगा रजिस्ट्रेशन!

जुलाई में आई सेल्स में गिरावट
मारुति सुजुकी इंडिया के मुताबिक, पिछले महीने उसने कुल 1,09,264 वाहनों की बिक्री की, जबकि पिछले वित्त वर्ष के इसी महीने में कंपनी ने कुल 1,64,369 वाहनों की बिक्री की थी. समीक्षाधीन अवधि में कंपनी की घरेलू बिक्री में साल-दर-साल आधार पर 35.1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, जोकि जुलाई में कुल 1,00,006 वाहनों की रही.

कंपनी के लाइट कमर्शियल वाहनों की बिक्री में 0.5 फीसदी की मामूली तेजी दर्ज की गई, जो कि कुल 1,732 वाहनों की रही. कंपनी के निर्यात में जुलाई में 9.4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जोकि 9,258 वाहनों की रही, जबकि पिछले साल के इसी महीने में कंपनी ने कुल 10,219 वाहनों का निर्यात किया था. पिछले महीने मारुति सुजुकी ने बताया कि वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में उसके मुनाफे में 27.3 फीसदी की कमी आई, जो कि 1,435.5 करोड़ रुपए रहा.
Loading...

ये भी पढ़ें: 13 हजार में शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस, होगी अच्छी कमाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 5, 2019, 8:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...