Amazon ने भारत में 25 लाख छोटे कारोबारियों को ऑनलाइन जाने में की मदद

ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन

ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन

अमेजन इंडिया (Amazon India) ने गुरुवार को कहा कि उसने 25 लाख छोटे और मझोले कारोबारियों को ऑनलाइन जाने में मदद की है और उनके जरिए तीन अरब अमरीकी डालर के कुल निर्यात के लक्ष्य को हासिल किया है तथा लाखों नौकरियां तैयार की हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. अमेजन इंडिया (Amazon India) ने गुरुवार को कहा कि उसने 25 लाख छोटे और मझोले कारोबारियों को ऑनलाइन जाने में मदद की है और उनके जरिए तीन अरब अमरीकी डालर के कुल निर्यात के लक्ष्य को हासिल किया है तथा लाखों नौकरियां तैयार की हैं. अमेजन ने पिछले साल एक करोड़ सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) को डिजिटल रूप से सक्षम बनाने के लिए एक अरब अमेरिकी डॉलर के निवेश की घोषणा की थी.

इस कवायद के जरिए 2025 तक 10 अरब अमेरिकी डॉलर का निर्यात हासिल करने और 10 लाख अतिरिक्त लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य तय किया गया था. अमेजन इंडिया के कंट्री हेड और वैश्विक वरिष्ठ उपाध्यक्ष अमित अग्रवाल ने पीटीआई-भाषा से कहा, पिछली ‘संभव’ घोषणा (जनवरी 2020 में) के बाद से 25 लाख से अधिक नए विक्रेता ऑनलाइन आए हैं और अमेज़न में शामिल हो गए हैं. विक्रेताओं के ऑनलाइन आने की दर कोविड-19 से पूर्व के मुकाबले 50 प्रतिशत अधिक है.

ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेलवे इन रूट्स पर शुरू करने जा रहा अतिरिक्त स्पेशल ट्रेनें, 13 अप्रैल से होगी बुकिंग, चेक करें लिस्ट 



उन्होंने कहा कि इनमें से लगभग एक तिहाई विक्रेता स्थानीय भारतीय भाषाओं, जैसे तमिल, कन्नड़ और मराठी का इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि उसके स्थानीय दुकान कार्यक्रम से 50,000 से अधिक खुदरा विक्रेता जुड़ चुके हैं. इसमें पिछले छह महीने के दौरान 10 गुना बढ़ोतरी हुई है. इस कार्यक्रम के जरिए पास-पड़ोस की किराना दुकानों को ऑनलाइन किया जाता है.
रोजगार को लेकर एमेजॉन के कंट्री हेड ​अमित अग्रवाल ने इकोनॉमिक टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि कंपनी ने पिछले एक साल में करीब तीन लाख भारतीयों को रोजगार मुहैया कराया है. यह उन नौकरियों की संख्या का एक तिहाई है जो लक्ष्य कंपनी के संस्थापक और सीईओ जेफ बेजोस ने 2025 तक हासिल करने के लिए तय किया है. ये टारगेट उन्होंने जनवरी 2020 में अपने भारत दौरे के दौरान सेट किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज