Home /News /business /

hike in fuel petrol diesel lpg prices sparks inflation worries economic growth will be hamper kcnd

Russia-Ukraine War : Petrol-Diesel की तेजी से महंगाई में लगेगी ‘आग’, आपकी जेब भी झुलस जाएगी

ईंधन की कीमतों में 10 फीसदी बढ़ोतरी से खुदरा महंगाई 42 बेसिस प्वाइंट बढ़ जाती है.

ईंधन की कीमतों में 10 फीसदी बढ़ोतरी से खुदरा महंगाई 42 बेसिस प्वाइंट बढ़ जाती है.

Hike In Fuel Price Sparks Inflation Worries : दो दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 1.60 रुपये की बढ़ोतरी हुई है. एलपीजी के दाम भी बढ़े हैं. आने वाले समय में पेट्रोल-डीजल और एलपीजी की कीमतों में और बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है. कुल मिलाकर इससे महंगाई (Inflation) और बढ़ने का खतरा उत्पन्न हो गया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia-Ukraine War) के कारण क्रूड में तेजी के बीच पिछले दो दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों (Petrol-Diesel Price) में 1.60 रुपये की बढ़ोतरी हुई है. एलपीजी के दाम भी बढ़े हैं. खुदरा ईंधन विक्रेता कंपनियों के अधिकारियों का कहना है कि आने वाले समय में पेट्रोल-डीजल और एलपीजी की कीमतों में और बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है. कुल मिलाकर इससे महंगाई (Inflation) के और बढ़ने का खतरा उत्पन्न हो गया है.

पिछले साल नवंबर के बाद से ब्रेंट क्रूड की कीमतों (Brent Crude Price) में 40 फीसदी से ज्यादा की तेजी आई है. आईसीआरए लिमिटेड में कॉरपोरेट रेटिंग के वाइस प्रेसिडेंट एवं सह-प्रमुख प्रशांत वशिष्ठ का कहना है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें आगे अभी और बढ़नी हैं. ब्रेंट क्रूड 119 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया है. ऐसे में नुकसान की भरपाई के लिए ऑटो ईंधन (Auto Fuel) यानी पेट्रोल-डीजल के दाम 18-19 रुपये प्रति लीटर और बढ़ाने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें- इन शहरों में ₹1000 से भी महंगा हुआ रसोई गैस सिलेंडर, कहीं इसमें आपके शहर का नाम तो नहीं

भारतीय परिवारों पर बढ़ेगा दबाव, घटेगी खपत
क्रिसिल लिमिटेड की प्रमुख अर्थशास्त्री दीप्ति देशपांडे ने कहा कि ईंधन की कीमतों में वृद्धि होनी ही थी, लेकिन इससे महंगाई को लेकर चिंता बढ़ गई है. ईंधन की बढ़ती कीमतों से भारतीय परिवारों पर दबाव बढ़ सकता है. इससे वस्तुओं और सेवाओं की मांग में कमी आ सकती है. तेज आर्थिक विकास के लिए ब्याज दरों को कम रखने की आरबीआई (RBI) की प्रतिबद्धता पर भी महंगाई का दबाव पड़ेगा.

ये भी पढ़ें- किसानों के लिए गुड न्यूज! सरकार ने बढ़ाए जूट के दाम, एमएसपी में 250 रुपये का इजाफा

…तो तेजी से बढ़ेगी महंगाई
इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च के मुख्य अर्थशास्त्री देवेंद्र कुमार पंत का कहना है कि पूरे साल के लिए ईंधन की कीमतों में 10 फीसदी की बढ़ोतरी से उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित महंगाई यानी खुदरा महंगाई (Retail Inflation) 42 बेसिस प्वाइंट और थोक महंगाई (Wholesale Inflation) 100 बेसिस प्वाइंट तक बढ़ जाती है. क्रूड में मौजूदा तेजी न सिर्फ अर्थव्यवस्था पर महंगाई का दबाव बढ़ाएगी बल्कि निजी खपत पर भी इसका प्रभाव दिखेगा.

ये भी पढ़ें- किसानों के लिए गुड न्यूज! सरकार ने बढ़ाए जूट के दाम, एमएसपी में 250 रुपये का इजाफा

अर्थव्यवस्था और भुगतान संतुलन पर गहरा असर
पंत ने कहा कि यह सबकुछ इस बात पर निर्भर करेगा कि कच्चे तेल की कीमतें में कैसा उतार-चढ़ाव रहता है. अगर कीमतें इसी स्तर पर स्थिर रहती हैं तो अर्थव्यवस्था (Indian Economy) पर गहरा असर पड़ेगा. हालांकि, प्रभाव इस बात पर भी निर्भर करेगा कि उपभोक्ताओं को कितनी ज्यादा पेट्रोल-डीजल की कीमतें चुकानी पड़ती हैं. इसके अलावा, आयात निर्भरत की वजह से भुगतान संतुलन (Balance Of Payments) पर भी भारी दबाव पड़ेगा.

Tags: Indian economy, Inflation, LPG Price, Petrol diesel price

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर