प्लेटफॉर्म टिकट के दाम बढ़ने पर रेलवे का बयान, जानिए क्या कहा

रेलवे ने कहा कि मुंबई डिविजन के 78 में से केवल सात स्टेशनों में दाम बढ़ाए गए हैं.

रेलवे ने कहा कि मुंबई डिविजन के 78 में से केवल सात स्टेशनों में दाम बढ़ाए गए हैं.

रेलवे ने कहा कि कम दूरी वाली यात्रा के टिकट के दामों में बढ़ोतरी का भी मकसद महामारी के दौरान लोगों को गैर जरूरी यात्रा करने से रोकना है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेल ने लंबे समय बाद शुक्रवार से प्लेटफॉर्म टिकट (Platform Ticket) की बिक्री शुरू कर दी है. मुंबई समेत देश के अन्य बड़े शहरों में प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ा दी गई है. वहीं, रेलवे ने कहा कि कुछ स्टेशनों में प्लेटफॉर्म टिकट की कीमतों में हाल में की गई बढ़ोतरी अस्थाई है और कोरोना वायरस संक्रमण के कारण भीड़-भाड़ को कम करने के लिए यह कदम उठाया गया है.

50 रुपये तक बढ़ाई गई है प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत
हाल ही में कुछ स्टेशनों में प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत 50 रुपये तक बढ़ाई गई है. रेलवे ने कहा कि कम दूरी वाली यात्रा के टिकट के दामों में बढ़ोतरी का भी मकसद महामारी के दौरान लोगों को गैर जरूरी यात्रा करने से रोकना है.

ये भी पढ़ें- Indian Railway: आज से दिल्ली सहित इन रेलवे स्टेशनों पर तीन गुने महंगे हुए टिकट, देखें कितने बढ़ गए रेट
बढ़ोतरी अस्थाई कदम


रेलवे ने कहा, ''कुछ स्टेशनों में प्लेटफॉर्म टिकटों की कीमतों में हाल में की गई बढ़ोतरी अस्थाई कदम है और इसका मकसद भीड़-भाड़ के जरिए संक्रमण को फैलने से रोकना है. ऐसा केवल कुछ स्टेशनों में किया गया है जहां ज्यादा भीड़-भाड़ हो रही थी.''

ये भी पढ़ें- EPFO ने लॉन्च की नई इलेक्ट्रॉनिक सुविधा, इन कर्मचारियों को होगा फायदा, ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन

भीड़-भाड़ को कम करने के लिए उठाया गया कदम
रेलवे ने कहा कि मुंबई डिविजन के 78 में से केवल सात स्टेशनों में दाम बढ़ाए गए हैं. उसने कहा कि स्टेशन पर भीड़-भाड़ को कम करने के लिए प्लेटफॉर्म टिकट के दाम बढ़ाने की शक्ति प्रमंडल रेलवे प्रबंधकों के पास 2015 से है. रेलवे ने कहा कि इसमें कोई नई बात नहीं है और यह प्रक्रिया कई वर्षों से है लेकिन इसका इस्तेमाल कभी कभी ही किया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज