सरकारी बैंकों में आएगी Jobs की बहार, इस साल ज्यादा बन रहे हैं नौकरियों के अवसर

सरकारी बैंक में निकट भविष्य में भारी संख्या में कर्मचारी रिटायर होने वाले हैं. ऐसे में इंप्लॉइज की कमी से निपटने के लिए जूनियर और मिडिल लेवल के पदों पर तेजी से से नई नियुक्तियां करने की जरूरत है.

News18Hindi
Updated: January 9, 2019, 11:45 AM IST
News18Hindi
Updated: January 9, 2019, 11:45 AM IST
अगर आप बैंक में नौकरी ढूंढ रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है. सरकारी बैंक में निकट भविष्य में भारी संख्या में कर्मचारी रिटायर होने वाले हैं. ऐसे में इंप्लॉइज की कमी से निपटने के लिए जूनियर और मिडिल लेवल के पदों पर तेजी से  से नई नियुक्तियां करने की जरूरत है. यह बात संसद की एक समिति ने एक रिपोर्ट में कही है. रिपोर्ट के अनुसार, सरकारी बैंकों में जनरल मैनेजर स्तर के 95 फीसदी, डिप्टी जनरल मैनेजर स्तर के 75 फीसदी और एडिशनल जनरल मैनेजर स्तर के 58 फीसदी कर्मचारी 2019-20 में रिटायर होने वाले हैं.

ये भी पढ़ें:  SBI ने ग्राहकों को किया अलर्ट! किसी भी बैंक से आए कॉल, तो ऐसे दें जबाव

अप्लाई करने वालों की संख्या घटी
वित्तीय मामलों की स्थायी समिति ने इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनेल सिलेक्शन यानी IBPS के आंकड़ों के आधार पर पाया कि सरकारी बैंकों में क्लर्क, प्रोबेशनरी ऑफिसर और विशिष्ट अफसरों के पद पर नए लोगों की नियुक्ति के लिए कैंडीडेट्स की संख्या में स्पष्ट गिरावट दिख रही है.

ये भी पढ़ें: पोस्ट ऑफिस में लावारिस पड़ा है 9000 करोड़ रुपये से ज्यादा, कहीं आपका भी तो नहीं है पैसा

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम वीरप्पा मोइली की अध्यक्षता वाली समिति ने पिछले सप्ताह संसद में पेश रिपोर्ट में कहा कि समिति का मानना है कि बैंकों द्वारा नियुक्तियों में कमी करना भी एक कारक है, लेकिन बिना किसी प्रोत्साहन के विपरीत परिस्थितियों में लंबे समय तक काम करने की बाध्यता से भी उम्मीदवार हतोत्साहित हो रहे हैं. समिति ने आशंका व्यक्त की है कि सरकारी बैंकों में निकट भविष्य में भारी संख्या में लोगों के रिटायर होने से विभिन्न स्तरों पर अचानक से लोगों की कमी हो सकती है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर