Home /News /business /

holi festival begin traders expect business of 20 thousand crores on this occasion

Holi Festival: बाजारों में दो साल बाद लौटी रौनक, व्‍यापार‍ियों के ख‍िले चेहरे, 20 हजार करोड़ के व्‍यापार का अनुमान!

इस साल पूरे देश में होली के अवसर पर लगभग 20 हजार करोड़ रुपए के व्यापार का अनुमान है  (Photo: Shutterstock)

इस साल पूरे देश में होली के अवसर पर लगभग 20 हजार करोड़ रुपए के व्यापार का अनुमान है (Photo: Shutterstock)

Holi Festival: दिल्ली में पिछले 2 साल से होली का रंग नहीं चढ़ रहा था. लेकिन इस साल ना केवल जमकर होली मिलन समारोह आयोजित किए जा रहे हैं बल्कि लोग भी बाजारों में खरीददारी के लिए निकल रहे हैं. व्यापारी संगठन चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (CTI) के अनुसार इस साल पूरे देश में होली के अवसर पर लगभग 20 हजार करोड़ रुपए के व्यापार का अनुमान है जबकि अकेले दिल्ली में 500 करोड़ रुपए से ज्यादा का व्यापार होने की संभावना है.

अधिक पढ़ें ...

नई द‍िल्‍ली. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के कारण लगे प्रतिबंधों के कारण देश और दिल्ली में पिछले 2 साल से होली का रंग नहीं चढ़ रहा था. लेकिन इस साल ना केवल जमकर होली मिलन समारोह (Holi Milan Program) आयोजित किए जा रहे हैं बल्कि लोग भी बाजारों में खरीददारी के लिए निकल रहे हैं.

व्यापारियों के संगठन चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (CTI) के अनुसार इस साल पूरे देश में होली के अवसर पर लगभग 20 हजार करोड़ रुपए के व्यापार का अनुमान है जबकि अकेले दिल्ली में 500 करोड़ रुपए से ज्यादा का व्यापार होने की संभावना है.

ये भी पढ़ें: Nykaa : इंडिया की सबसे अमीर सेल्फ-मेड वुमन अरबपति बनी ये महिला, Paytm CEO को पीछे छोड़ा 

सीटीआई चेयरमैन बृजेश गोयल और अध्यक्ष सुभाष खंडेलवाल के अनुसार दिल्ली में बड़े पैमाने पर होली मंगल मिलन कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं. इस सप्‍ताह सोमवार से ही जगह-जगह होली के प्रोग्राम हो रहे हैं. बाजारों की एसोसिएशन, धार्मिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक कार्यक्रमों में होली छाई हुई है. चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) का अनुमान है कि इस होली पर दिल्ली में 1,000 से ज्यादा होली मिलन समारोह हो रहे हैं. इस होली पर दिल्ली में 500 करोड़ रुपये से ज्यादा का बिजनेस होने की उम्मीद है.

सीटीआई चेयरमैन बृजेश गोयल ने कहा कि दो सालों तक कोरोना की वजह से होली फीकी रही. बड़े कार्यक्रम आयोजित नहीं हुए. कोरोना का खौफ ऐसा रहा कि लोग घरों से बाहर नहीं निकले. इस बार दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने बड़ी राहत दी है. तमाम प्रतिबंधों को हटा दिया है. अब लोग खुलकर एक-दूसरे से मिल रहे हैं. कार्यक्रमों में गेस्ट की अधिकतम संख्या की पाबंदी नहीं है. ऐसी एसोसिएशंस भी होली मिलन के प्रोग्राम कर रही हैं, जिन्होंने पहले कभी नहीं किया था. कार्यक्रमों में लोग मिलकर यही कह रहे हैं कि भई दो साल हो गए मिले हुए.

सीटीआई महासचिव रमेश आहूजा और सचिव गुरमीत अरोड़ा ने बताया कि सदर बाजार, चांदनी चौक, कश्मीरी गेट, भागीरथ पैलेस, करोल बाग चावड़ी बाजार, नया बाजार, कमला नगर, रोहिणी, पीतमपुरा, लक्ष्मी नगर, कृष्णा नगर, मंडोली रोड समेत तमाम मार्केट्स में छोटे-बड़े होली मिलन कार्यक्रम हो रहे हैं.

एक तरफ कोरोना लोगों के बीच दूरी पैदा करता है. वहीं होली सभी को नजदीक लेकर आती है. इससे व्यापार जगत काफी उत्साहित है. होली के अवसर पर साउंड, डीजे, टेंट, हलवाई, कैटरिंग, लाइटिंग, बैंक्वेट, एंकर, कलाकार, किराना, रंग-गुलाल, पिचकारी और इवेंट ऑर्गनाइजर्स को काम मिला है. सदर बाजार जैसे थोक मार्केट में अच्छी भीड़ देखी जा रही है. होली से पहले ही थोक मार्केट में रंग और गुलाल, पिचकारियां खत्म हो गए हैं. मिठाई की दुकानों पर भी अच्छी खासी रौनक लौट रही है.

बृजेश गोयल ने उम्मीद जताई कि अब कोविड संक्रमण (Corona Virus) दिल्ली में नहीं फैलेगा. सभी को वैक्सीन लग रही है. किसी भी बड़े त्योहार से बाजार में रौनक आती है. कारोबार चलता है, तो सभी की आय होती है. महामारी में काफी नुकसान ट्रेडर्स ने झेला है. अब अर्थव्यवस्था पटरी पर दौड़ने की ओर है. यह होली अच्छे संकेत लेकर आई है.

Tags: Business news in hindi, Corona Virus, COVID 19, Delhi news, Holi festival

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर