लाइव टीवी

COVID-19: होटल मैरियट ने कर्मचारियों को बिना पेमेंट छुट्टी पर भेजा, बॉस ने कहा- मैं भी नहीं लूंगा सैलरी

News18Hindi
Updated: March 22, 2020, 2:15 PM IST
COVID-19: होटल मैरियट ने कर्मचारियों को बिना पेमेंट छुट्टी पर भेजा, बॉस ने कहा- मैं भी नहीं लूंगा सैलरी
होटल मैरियट ने अपने हजारों कर्मचारियों को छुट्टी पर भेजने का फैसला लिया है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की वजह से दुनियाभर की ट्रैवल और होटल इंडस्ट्री बुरी तरह प्रभावित हुई है. दुनिया की सबसे बड़ी होटल चेन मैरियट इंटरनेशनल (Marriott International) की बिजनेस 75 फीसदी कम हो चुकी है. कंपनी ने अपने कर्मचारियों को 90 दिनों के लिए छुट्टी पर भेजने का फैसला किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2020, 2:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दुनिया की सबसे बड़ी होटल चेन मैरियट इंटरनेशनल ने अपने कॉर्पोरेट कर्मचारियों को कुछ दिन के लिए छुट्टी पर भेजने का फैसला लिया है. कंपनी के इस फैसले के बाद अब उसके हेडक्वार्टर और दुनिया भर के अन्य शहरों में काम करने वाले इन कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज दिया जाएगा. हालांकि इस दौरान उन्हें आंशिक पेमेंट भी दी जाएगी. कंपनी ने यह फैसला कोरोना वायरस की वजह से ग्लोबल ट्रैवल पर पड़ने वाले असर को ध्यान में रखकर लिया है.

वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट में मैरियट के प्रवक्ता के हवाले से लिखा गया है कि कंपनी अपने हेडक्वार्टर के 4,000 में से दो तिहाई कॉरपोरेट कर्मचारियों के लिए यह फैसला लिया है. उन्होंने बताया कि दुनियाभर के अन्य शहरों में काम करने वाले दो तिहाई कर्मचारियों के लिए भी यही फैसला लिया गया है.

यह भी पढ़ें: इस दिग्गज को देखकर इमोशनल हुए Paytm बॉस, अब कर्मचारियों के लिए किया बड़ा ऐलान

छुट्टी पर भेजे गए कर्मचारियों को मिलेगी 20 फीसदी सैलरी



मैरियट ने कहा कि इस प्रक्रिया को अगले महीने से ही शुरू कर दिया जाएगा. एक अनुमान के मुताबिक इन कर्मचारियों को 60 से 90 दिन के लिए छुट्टी दी जाएगी. इस दौरान, इन कॉरपोरेट कर्मचारियों को उनकी सैलरी का केवल 20 फीसदी ही पेमेंट किया जाएगा. कंपनी ने यह भी कहा कि जिन कर्मचारियों को छुट्टी के लिए नहीं भेजा जाएगा, उनकी सैलरी में से भी 20 फीसदी की कटौती की जाएगी.

मैरियट के इस फैसले के बाद कंपनी के दुनियाभर में काम करने वाले हजारों कर्मचारियों पर इसकी मार पड़ेगी, जिसमें होटल मैनेजर्स से लेकर हाउसकिपर्स तक शामिल होंगे. कोरोना वायरस की वजह से कंपनी ने अपने कई होटलों को कुछ दिनों के लिए बंद करने का भी फैसला किया है.

यह भी पढ़ें: PMC Bank ग्राहकों को दूसरा झटका, जून तक नहीं निकाल सकेंगे इससे अधिक रकम

9/11 और 2008 वित्तीय संकट से भी बुरी स्थिति
पिछले गुरुवार को ही मैरियट के चीफ एग्जीक्युटिव आर्ने सॉरेन्सन ने अपने कर्मचारियों को एक वीडियो मैसेज में कहा कि आम दिनों के तुलना में मैरियट का बिजनेस 75 फीसदी तक प्रभावित हुआ है. करीब एक सदी पुरानी इस होटल कंपनी की इतिहास में यह सबसे बुरा दौर चल रहा है. उन्होंने कहा कि कंपनी की वित्तीय स्थिति 11 सितंबर 2011 हमले और 2008-2009 के बीच वित्तीय संकट से बुरी है.



बिल मैरियट नहीं लेंगे सैलरी
उन्होंने इस वीडियों में कहा कि वो खुद और कंपनी के बोर्ड चेयरमैन बिल मैरियट ने भी इस दौरान कोई भी सैलरी लेने से मना कर दिया है. उन्होंने आगे यह भी कहा कि उनकी एग्जीक्युटिव टीम अपनी सैलरी में 50 फीसदी की कटौती करेगी.

बता दें कि मैरियट होटल दुनिया की सबसे बड़ी होटल चेन है. दुनियाभर में इस होटल के पास कुल 14 लाख कमरे, 30 ब्रांड्स और 7,300 से अधिक प्रॉपर्टीज है. कोरोना वायरस की वजह से वैश्विक ट्रैवल बंद हो चुका है. बिजनेस ट्रैवल्स और कॉन्फरेंसेज को कैंसिल कर दिया गया है.

यह भी पढ़ें: कोरोना इफेक्ट! रेलवे ने ​बदला रिफंड नियम, आसानी से मिलेगा कैंसिल टिकट का पैसा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2020, 2:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर