घर में रखे सोने की देनी होगी जानकारी! मोदी सरकार ला रही है नई स्कीम

घर में रखे सोने की देनी होगी जानकारी! मोदी सरकार ला रही है नई स्कीम
गैर-कानूनी रूप से रखे गये सोने के लिए एमनेस्टी प्रोग्राम पर काम कर रही है सरकार

भारत में लोगों के घरों में करीब 25,000 टन सोना रखा है. इसका एक बड़ा हिस्सा गैर-काूननी रूप से रखे गए सोने (illegal Gold) का है. अब खबर है कि सरकार एक एमनेस्टी प्रोग्राम पर काम कर रही है ताकि टैक्स चोरी कम हो सके और सोने के आयात पर निर्भरता कम हो.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 31, 2020, 10:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) अब भारत में गैर-कानूनी रूप से घरों में रखे गए सोने (illegal Gold) के लिए एमनेस्टी प्रोग्राम (आम-माफ़ी कार्यक्रम) पर विचार कर रहा है. इस प्रोग्राम के जरिए सरकार चाहती है कि टैक्स चोरी (Tax Evasion) पर लगाम लगे और ​आयात पर निर्भरता कम हो. एक बिजनेस न्यूज वेबसाइट ने मामले से जुड़े लोगों के हवाले से एक रिपोर्ट लिखी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के समक्ष पेश किए गए प्रस्ताव में कहा गया है कि सरकार लोगों से अपील करेगी कि वो गैर-कानूनी रूप से रखे पीलीधातु के बारे में टैक्स विभाग को जानकारी दें. इसके लिए उन्हें लेवी या पेनाल्टी देनी होगी. हालांकि, यह प्रस्ताव अभी शुरुआती चरण में है. सरकार अभी भी संबंधित अधिकारियों के साथ विचार कर रही है.

पीएम मोदी ने राज्यों की सहमति से साल 2015 में तीन प्लान के बारे में जानकारी दी थी, जोकि घरों में रखे करीब 25,000 टन सोने, संस्थानों द्वारा फिजिकल गोल्ड रखना और आयात कम करने के बारे में था ताकि निवेश के वै​कल्पिक साधन मिल सके. हालांकि, ये प्लान पॉपुलर नहीं हो सका क्योंकि एक वर्ग अपने पास रखे सोने को छोड़ना नहीं चाहता था. घरों में रखे सोने का एक बड़ा हिस्सा ज्वेलरी के फॉर्म में है और विशेष मौके पर इसे पहनते हैं. हालांकि, एक दूसरा वर्ग वो भी था,​ जिन्हें डर था कि उन्हें टैक्स विभाग द्वारा दंडित किया जाएगा.

यह भी पढ़ें:  चाइनीज कंपनियों के सामान को रोकने के लिए,सरकार ने इस सामान पर लगाया भारी टैक्स



सरकार के पास रखना होगा गोल्ड का एक हिस्सा
ब्लूमबर्ग की इस रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि जो लोग अपने गोल्ड का ब्यौरा देंगे, उन्हें कानूनी रूप से रखें अपने गोल्ड का एक हिस्सा सरकार के पास कुछ समय के लिए रखना होगा. पिछले साल 30 अक्टूबर को एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि उस दौरान भी सरकार एक ऐसे प्रोग्राम पर काम कर रही थी. हालांकि, उस दौरान टैक्स विभाग ने ऐसे किसी प्रोग्राम की खबरों को खारिज कर दिया था.

इस साल गोल्ड की कीमतों में तेजी का अनुमान
बता दें कि इस साल सोने के भाव में अब तक 30 फीसदी तक का इजाफा देखने को मिला है. मौजूदा कोरोना वायरस महामारी ने इसे और भी बढ़ने में मदद की है. दरअसल, वैश्विक अर्थव्यवस्था को लेकर अनिश्चितता के माहौल में निवेशक सुर​क्षित निवेश विकल्प को वरीयता रहे हैं. हाल ही में, गोल्डमैन सैक्स ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि आने वाले समय में दुनियाभर की सरकारें अगले राहत पैकेज का ऐलान करने वाली है. ऐसे में बुलियन मार्केट में तेजी देखने को मिलेगी. गोल्डमैन सैक्स ने गोल्ड के भाव का अनुमान 2,300 डॉलर प्रति आउंस लगाया है.

यह भी पढ़ें: अगले महीने से बदल जाएगा आपकी सैलरी से जुड़ा ये जरूरी नियम, जानिए इसके बारे में

गुरुवार को चांदी में बड़ी गिरावट
इस बीच अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपए में कमजोरी से गुरुवार को दिल्ली में 10 ग्राम सोने की कीमत (Gold Prices) 118 रुपये बढ़कर 53,742 रुपये पर पहुंच गई है. जबकि, चांदी के भाव में गिरावट दर्ज की गई. दिल्ली में एक किलोग्राम चांदी का दाम 66,484 रुपये से घटकर 64,100 रुपये हो गए है. इस दौरान कीमतों में 2,384 रुपये की गिरावट आई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading