Home /News /business /

housing price in 8 cities average housing price increased by 5 pecent in april june delhi ncr on top rrmb

Housing Price : शहरों में अप्रैल-जून में बढ़ गई घरों की कीमत, जानिए किस शहर में ज्‍यादा महंगे हुए घर

दौरान घरों की कीमतों (Housing price) में औसतन पांच फीसदी की वृद्धि हुई है.

दौरान घरों की कीमतों (Housing price) में औसतन पांच फीसदी की वृद्धि हुई है.

क्रेडाई (Credai), सलाहकार कोलियर्स इंडिया और डेटा विश्लेषण फर्म लियासेस फोरास की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि देश के आठ प्रमुख शहरों में अप्रैल-जून तिमाही के दौरान घरों की कीमतों (Housing price) में औसतन पांच फीसदी की वृद्धि हुई है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

इस तिमाही में भारत में घरों की कीमतें कोरोना महामारी से पहले के स्तर को पार कर गईं हैं.
वार्षिक आधार पर दिल्ली-NCR प्रॉपर्टी मार्केट में घर की कीमतों में सबसे ज्यादा उछाल आया है.
होम लोन पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी के कारण मांग पर मामूली असर पड़ सकता है.

नई दिल्‍ली. महंगाई की मार घरों की कीमतों (Housing price) पर भी पड़ी है. अप्रैल-जून तिमाही में देश के 8 प्रमुख शहरों में घरों की कीमतों में अच्‍छी-खासी बढ़ोतरी हुई है. इस तिमाही में भारत में घरों की कीमतें कोरोना महामारी से पहले के स्तर को पार कर गईं हैं. इससे संकेत मिलता है कि घर की मांग काफी तेज है और सप्लाई पूरी तरह मांग के अनुरूप है.

रियल एस्टेट सेक्टर की शीर्ष संस्था क्रेडाई (Credai), सलाहकार कोलियर्स इंडिया और डेटा विश्लेषण फर्म लियासेस फोरास ने ‘हाउसिंग प्राइस-ट्रैकर रिपोर्ट 2022’ में यह जानकारी दी है. इन संस्‍थाओं ने यह रिपोर्ट देश के आठ प्रमुख शहरों के रुझानों के आधार पर तैयार की है. इन शहरों में दिल्ली-NCR, मुंबई महानगरीय क्षेत्र (MMR), चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद शामिल है.

ये भी पढ़ें-  Milk Price Hike : कल से दो रुपये महंगा हो जाएगा अमूल और मदर डेयरी का दूध, जानें किस पैकैट का कितना हो जाएगा दाम?

किस शहर में बढ़ी कितनी कीमत?
आंकड़ों के अनुसार, इस कैलेंडर ईयर की अप्रैल-जून तिमाही के दौरान अहमदाबाद में घरों की कीमतें वार्षिक आधार पर 9% बढ़कर 5,927 रुपए प्रति वर्ग फुट हो गई है. वहीं बेंगलुरु में घरों की कीमतों में 4 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और अब कीमत 7,848 रुपए प्रति वर्ग फुट हो गई. जबकि चेन्नई में घरों की कीमतों में एक प्रतिशत की वृद्धि हुई है और यहां अब नया रेट 7,129 रुपए प्रति वर्ग फुट हो गया है. हैदराबाद में हाउसिंग रेट अप्रैल-जून में 9,218 रुपए प्रति वर्ग फुट था. इसमें सालाना आधार पर 8 फीसदी की वृद्धि हुई है. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी की कीमतें भी 8% बढ़कर 6,362 रुपए प्रति वर्ग फुट हो गईं.

दिल्‍ली-एनसीआर में सबसे ज्‍यादा बढ़ी कीमतें
सबसे महंगे रियल एस्टेट मार्केट मुंबई महानगरीय क्षेत्र (MMR) में घर की कीमतों में 19,677 रुपये प्रति वर्ग फुट पर केवल 1 प्रतिशत की बढ़त देखी गई. वार्षिक आधार पर दिल्ली-NCR प्रॉपर्टी मार्केट में घर की कीमतों में सबसे ज्यादा उछाल आया है. यहां घरों की कीमतों में 10 फीसदी का उछाल आया है और यहां अप्रैल-जून तिमाही में कीमत 7,434 रुपए प्रति वर्ग फुट हो गई. महाराष्‍ट्र के पुणे में जून तिमाही के दौरान घरों की कीमतों में 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई और यहां रेट 7,681 रुपए प्रति वर्ग फुट हो गए. ये सभी कीमतें कारपेट एरिया पर आधारित हैं.

क्रेडाई के नेशनल प्रेसिंडेंट हर्षवर्धन पटोदिया ने घरों की कीमतों में बढ़ोतरी का कारण मजबूत बुनियादी बातों के अलावा प्रमुख बिल्डिंग मटेरियल और मजदूरी दरों में बढोतरी को बताया है. उन्‍होंने कहा कि होम लोन पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी के कारण मांग पर मामूली असर पड़ सकता है लेकिन सितंबर से बिक्री में बढ़ोतरी जारी रहेगी.

Tags: Home, Inflation, Property market

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर