• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • नाइट फ्रैंक की रिपोर्ट में दावा, दिल्‍ली समेत 8 शहरों में 67 फीसदी बढ़ी घरों की बिक्री

नाइट फ्रैंक की रिपोर्ट में दावा, दिल्‍ली समेत 8 शहरों में 67 फीसदी बढ़ी घरों की बिक्री

रियल एस्टेट (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रियल एस्टेट (प्रतीकात्मक तस्वीर)

प्रॉपर्टी कंसल्टेंसी कंपनी नाइट फ्रैंक (Knight Frank) ने जनवरी-जून के दौरान दिल्‍ली-एनसीआर, मुंबई समेत 8 बड़े शहरों के घरों की बिक्री के आंकड़े जारी किए हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रॉपर्टी कंसल्टेंसी कंपनी नाइट फ्रैंक इंडिया (Knight Frank India) ने गुरुवार को कहा कि कोविड-19 (Covid-19) की दूसरी लहर के बावजूद इस साल जनवरी से जून के बीच आठ शहरों में घरों की बिक्री सालाना आधार पर 67 फीसदी की वृद्धि के साथ 99,416 यूनिट्स हो गई. इनमें से मुंबई और पुणे में सबसे ज्यादा फ्लैट बिके.

    नाइट फ्रैंक इंडिया ने गुरुवार को एक वेबिनार में आठ शहरों - मुंबई महानगरीय क्षेत्र (Mumbai Metropolitan Region), दिल्ली-एनसीआर, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद के लिए अपनी रिपोर्ट 'इंडिया रियल एस्टेट - रेजिडेंशियल, जनवरी-जून 2021' जारी की. रिपोर्ट के अनुसार, आठ बाजारों में 2021 कैलेंडर वर्ष की पहली छमाही में 99,416 हाउसिंग यूनिट्स बेची गईं, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में यह संख्या 59,538 थी.

    2020 से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद
    नाइट फ्रैंक इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा, ''हमें उम्मीद है कि हम घरों की बिक्री के लिहाज से इस साल, 2020 से बेहतर प्रदर्शन करेंगे.'' संपत्ति की स्थिर कीमतों और होम लोन पर ऐतिहासिक रूप से कम ब्याज दरों के साथ उन्होंने इस साल की दूसरी छमाही के दौरान बिक्री की गति जारी रहने की उम्मीद जताई.

    किस शहर में कितनी बिक्री
    नाइट फ्रैंक के अनुसार इस दौरान नई आवास यूनिट्स की पेशकश 60,489 यूनिट्स से 71 फीसदी बढ़कर 1,03,238 यूनिट्स रही. घरों की कीमतें ज्यादातर सालाना आधार पर 1-2 फीसदी की कमी के साथ ज्यादा स्थिर रहीं. न बिने वाले घरों की संख्या 4,46,787 यूनिट्स से एक फीसदी गिरकर 4,41,742 यूनिट्स हो गई. आंकड़े के मुताबिक मुंबई में इस साल जनवरी-जून के दौरान 53 प्रतिशत की सालाना वृद्धि के साथ 28,607 घरों की बिक्री हुई जबकि पुणे में यह क्रमश: 74 फीसदी और 17,474 था. वहीं दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में इस अवधि में 111 फीसदी की वृद्धि के साथ 11,474 घर बिके.

    टीकाकरण तेज होने से जून में मकानों की मांग और बिक्री बढ़ी
    रियल एस्टेट विकास करने वाली कंपनियों के संगठन नारेडको के राष्ट्रीय अध्यक्ष निरंजन हीरानंदानी ने इन आंकडों पर कहा कि कोविड19 की रोकथाम के लिए लागू पाबंदियों को सावधानी के साथ हटाने तथा टीकाकरण तेज होने से जून में मकानों की मांग और बिक्री बढ़ी है. उन्होंने कहा कि आवास बाजार का भविष्य उत्साहजनक है.

    ये भी पढ़ें- ICICI Bank Platinum Chip Credit Card: कोई जॉइनिंग और एनुअल फीस नहीं, जानें इस क्रेडिट कार्ड की हर डिटेल

    बैजल ने कहा, ''धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियों की बहाली और टीके की बढ़ती उपलब्धता ने 2020 की दूसरी छमाही में बाजार में तेजी ला दी थी और यह गति 2021 की पहली तिमाही में बनी रही. उन्होंने कहा कि कोविड​​​​-19 की दूसरी लहर ने इस गति को रोक दिया था. हालांकि, बैजल ने कहा कि इसे 'स्पीड ब्रेकर' के रूप में देखा जाना चाहिए क्योंकि जनवरी-जून 2021 की अवधि में बाजार की मात्रा में सालाना वृद्धि अर्ध-वार्षिक और त्रैमासिक आधार पर मजबूत बनी हुई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज