Gift पर कब और कैसे टैक्स देनदारी बनती है? जानिए गिफ्ट पर Income Tax का गणित

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

रिश्तेदारों से मिलने वाला गिफ्ट तो टैक्स फ्री होता है, लेकिन दोस्तों से मिलने वाले गिफ्ट पर इनकम टैक्स चुकाना होता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. उपहारों (Gifts) के बिना भारतीय त्योहारों की कल्पना की ही नहीं जा सकती. गिफ्ट के रूप में लोग पैसे से लेकर सोना, चांदी, हीरा से लेकर कंपनियों के शेयर से लेकर जमीन जैसे गिफ्ट अपने प्रियजनों को देते हैं. लेकिन ये गिफ्ट हमेशा टैक्स फ्री (Income Tax Free) नहीं होते हैं. रिश्तेदारों से मिलने वाला गिफ्ट तो टैक्स फ्री होता है, लेकिन दोस्तों से मिलने वाले गिफ्ट पर इनकम टैक्स चुकाना होता है. आइए जानते हैं गिफ्ट पर लगने वाले इनकम टैक्स (Income Tax) का पूरा गणित-

50 हजार रुपये से कम के गिफ्ट पर कोई टैक्स नहीं 
रिश्तेदारों और दोस्तों से मिलने वाले वैसे गिफ्ट जिनकी कीमत 50 हजार रुपये से कम है, ऐसे गिफ्ट पर कोई टैक्स नहीं देना होता है। लेकिन 50 हजार रुपये से अधिक कीमत वाले गिफ्ट पर इनकम टैक्स भरना पड़ता है. लेकिन जैसे ही गिफ्ट की कीमत 50 हजार रुपये से अधिक होती है, वैसे ही गिफ्ट के पूरे अमाउंट पर टैक्स लगता है. उदाहरण के लिए अगर गिफ्ट की कीमत 51 हजार है तो पूरे अमाउंट पर टैक्स देना होगा. ऐसा नहीं होगा कि आपको 50 हजार से ऊपर सिर्फ 1 हजार रुपये पर टैक्स लगे. मिलने वाले गिफ्ट पर Income From Other Sources के रूप में इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 56(2) के तहत टैक्स भरना होता है.

सालाना आधार पर लगता है टैक्स
गिफ्ट पर लगने वाला इनकम टैक्स किसी एक गिफ्ट पर नहीं लगता है, बल्कि यह एक वित्त वर्ष में मिले कुल गिफ्ट पर लगता है. यानी अगर साल भर में आपको 50 हजार रुपये से अधिक का गिफ्ट मिला है तो आपको इनकम टैक्स चुकाना होगा. ऐसा नहीं होगा कि अगर आपको एक गिफ्ट 51 हजार का मिला है तो उस पर टैक्स लगेगा और दूसरा गिफ्ट अगर 40 हजार रुपये का है तो उस पर टैक्स नहीं लगेगा. ऐसी स्थिति में आपको पूरे 91 हजार के गिफ्ट पर टैक्स चुकाना होगा.



इनसे मिले गिफ्ट पर टैक्स में छूट
इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 56 के तहत रिश्तेदारों से मिले गिफ्ट टैक्स फ्री होते हैं. इनकम टैक्स एक्ट के मुताबिक, पति, पत्नी, भाई, बहन, पति और पत्नी के भाई-बहन यानी साला और साली, पेरेंट्स के भाई-बहन यानी मामा और चाचा, जिन लोगों से खून का रिश्ता हो, या पति पत्नी का जिन लोगों से ब्लड रिलेशन हो, वे रिश्तेदारों की श्रेणी में आते हैं. इन लोगों से मिले किसी भी प्रकार के गिफ्ट पर टैक्स नहीं लगता है. लेकिन दोस्त रिश्तेदारों की श्रेणी में नहीं आते हैं इनसे मिलने वाले गिफ्ट पर टैक्स लगता है.

इन Gifts पर भी मिलती है टैक्स में छूट
शादी के समय मिले गिफ्ट पर किसी तरह का कोई टैक्स नहीं लगता है, लेकिन बर्थडे, सालगिरह आदि खास मौकों पर मिले गिफ्ट पर इनकम टैक्स लगता है. इसके अलावा विरासत में मिले तोहफे, वसीयत में मिले गिफ्ट पर कोई टैक्स नहीं लगता है. इसके अलावा देने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर मिले गिफ्ट पर कोई टैक्स नहीं लगता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज