HDFC Bank ने शुरू की Video KYC-घर बैठे ऑनलाइन खुलेगा बैंक खाता, मिलेगा लोन, जानिए सबकुछ

निजी क्षेत्र के HDFC बैंक ने कोरोनावायरस महामारी के दौर में ग्राहकों के लिए फुल वीडियो केवाईसी (Video KYC) सुविधा शुरू की है.

निजी क्षेत्र के HDFC बैंक ने कोरोनावायरस महामारी के दौर में ग्राहकों के लिए फुल वीडियो केवाईसी (Video KYC) सुविधा शुरू की है.

HDFC Bank launches video KYC facility: निजी क्षेत्र के HDFC बैंक ने कोरोनावायरस महामारी के दौर में ग्राहकों के लिए फुल वीडियो केवाईसी (Video KYC) सुविधा शुरू की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2020, 2:26 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना के इस संकट में अपने ग्राहकों को राहत देने के लिए देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक एचडीएफसी (HDFC Bank) ने नई सर्विस शुरू की है.बैंक ने ग्राहकों के लिए फुल वीडियो केवाईसी (Video KYC) सुविधा शुरू की है. अब ग्राहक घर बैठे सुरक्षित रूप से ऑनलाइन बैंक खाता, कॉरपारेट सैलरी अकाउंट या पर्सनल लोन के लिए जरूरी KYC (Know Your Customer) करा लेंगे. इन्हें बैंक ब्रांच जाने की जरूरत नहीं होगी और मिनटों में काम हो जाएगा. बैंक ने सफल पायलट प्रोजेक्ट के बाद इस सर्विस को पूरी तरह शुरू किया है. आपको बता दें कि केवाईसी भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा संचालित एक पहचान प्रक्रिया है जिसकी मदद से बैंक और अन्य वित्तीय संस्थाएं अपने ग्राहक के बारे में अच्छे से जान पाती हैं. KYC यानि "नो योर कस्‍टमर" यानि अपने ग्राहक को जानिये. बैंक तथा वित्तीय कम्पनियां इसके लिए फॉर्म को भरवा कर इसके साथ कुछ पहचान के प्रमाण भी लेती हैं.

HDFC बैंक में ग्रुप हेड (रिटेल ब्रांच बैंकिंग) अरविंद वोहरा का कहना है कि पहले चरण में सेविंग, कॉरपोरेट अकाउंट्स और पर्सनल लोन के लिए यह सर्विस शुरू कर हो रही हैं. अन्य दूसरे बैंकिंग प्रोडक्ट्स के लिए भी यह सुविधा अलग-अलग चरण में शुरू होगी.

वीडियो KYC के बारे में जानिए- बैंक आवेदन में संपूर्ण आधार ओटीपी-आधारित e-KYC होती है.

आपके साथ PAN कार्ड की ओरिजनल कॉपी होनी चाहिए. वीडियो KYC करवाते वक्त भारत में मौजूद रहना जरूरी है.
ये भी पढ़ें- Credit और Debit कार्ड इस्तेमाल करने वालों के लिए बड़ी खबर, 30 सितंबर से लागू होंगे RBI के नए नियम

अच्छी डेटा कनेक्टिविटी के साथ एक स्मार्टफोन होना चाहिए. ग्राहक द्वारा बैंक की वेबसाईट/प्लेस्टोर पर इंस्टा अकाउंट ओपनिंग ऐप द्वारा अपना आधार ईकेवाईसी पूरा कर लेने के बाद, उसे बैंक के अधिकारी से जोड़ा जाता है, जो वीडियो केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करता है.

बैंक क्या करेगा-ग्राहक की जानकारी की वेरिफाई करता है. ग्राहक का फोटो खींचता है



ग्राहक के पैनकार्ड की फोटो लेता है. खाता एक्टिव किए जाने से पहले वीडियो केवाईसी के ऑडियो-वीडियो बातचीत वेरिफाई किया जाता है.

वीडियो केवाईसी के लिए ग्राहकों को बैंक द्वारा SMS या ईमेल के जरिए एक लिंक भेजा जाएगा. इस लिंक पर क्लिक करने के बाद ग्राहक वीडियो केवाईसी वेबपेज पर पहुंच जाएगा. इसके बाद ग्राहक को अपना मोबाइल नंबर डालना होगा और फिर इस पर आए ओटीपी के जरिए उसे ऑथेन्टिकेट किया जाएगा.


इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद ग्राहक को वीडियो केवाईसी एजेंट से कनेक्ट कर दिया जाएगा. यह एजेंट ग्राहक से पैन, फोटो, सिग्नेचर, लोकशन ​आदि डिटेल्स लाइव वीडियो के जरिए हासिल करेगा. सभी डिटेल्स वीडियो बैंकिंग रिप्रेजेंटेटिव द्वारा प्रमाणित किए जाने के बाद आपका अकाउंट या क्रेडिट कार्ड बन जाएगा.

रिजर्व बैंक (RBI) के दिशानिर्देशों के अनुरूप, वीडियो केवाईसी, ग्राहक की पूर्ण केवाईसी के समान है और इसके बाद ग्राहक सभी वित्तीय/केवाईसी प्रोडक्ट ले सकता है. यह सर्विस वर्किंग दिनों में सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक उपलब्ध रहेगी. वीडियो केवाईसी की प्रक्रिया ऑनलाइन, फास्ट और सेफ है. यह पेपरलेस व कॉन्टैक्टलेस है. इसमें बैंक के अधिकारी एवं ग्राहक के बीच की बातचीत रिकॉर्ड होती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज