होम /न्यूज /व्यवसाय /

कितनी बार बदल सकते हैं आधार कार्ड में नाम, पता, डेट ऑफ बर्थ? UIDAI ने तय की सीमा

कितनी बार बदल सकते हैं आधार कार्ड में नाम, पता, डेट ऑफ बर्थ? UIDAI ने तय की सीमा

UIDAI ने किसी भी आधारकार्ड होल्डर के लिए एड्रेस बदलने के लिए सीमा तय कर रखी है.

UIDAI ने किसी भी आधारकार्ड होल्डर के लिए एड्रेस बदलने के लिए सीमा तय कर रखी है.

UIDAI ने किसी भी आधारकार्ड होल्डर के लिए एड्रेस बदलने के लिए सीमा तय कर रखी है. UIDAI के अनुसार कोई आधारकार्ड होल्डर जीवनभर में सिर्फ दो बार ही अपना एड्रेस बदल सकता है.

हाइलाइट्स

ऑनलाइन सेवा से आधार में अब नाम से लेकर एड्रेस तक में सुधार करवाना आसान हो गया है.
UIDAI ने अब आधार कार्ड में अलग-अलग जानकारियां अपडेट करने के लिए लिमिट लगा दी है.
आधारकार्ड होल्डर जीवनभर में सिर्फ दो बार ही अपना एड्रेस बदल सकता है.

नई दिल्ली. आधार कार्ड भारत सरकार द्वारा भारत के नागरिकों को जारी किया जाने वाला पहचान पत्र है. इसमें 12 अंकों का एक स्पेशल नंबर छपा होता है. इसे आधार कार्ड नंबर कहते हैं, जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) जारी करता है. वर्तमान समय में यह आधार कार्ड नंबर हमारी पहचान के लिए एक जरूरी दस्तावेज बन गया है.

किसी भी सरकारी योजना का लाभ उठाने के आपके पास आधार कार्ड नंबर का होना बहुत जरूरी है. बैंक में अकाउंट खुलवाने से लेकर एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी पाने के लिए आधार कार्ड जरूरी है. अब आधार को पैन से लिंक करना भी अनिवार्य हो चुका है.

ये भी पढ़ें – आधार बायोमेट्रिक डिटेल को ऑनलाइन लॉक- अनलॉक कैसे करें, जानिए स्टेप बाय स्टेप

आधार में अब नाम से लेकर एड्रेस तक में सुधार करवाना आसान हो गया है. अगर आपके आधार कार्ड में नाम, डेट ऑफ बर्थ या एड्रेस में कुछ गलतियां हैं और आपको इसे बदलवाना हो तो आप आसानी से इसमें बदलाव कर सकते हैं, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि ये बदलाव आप कितनी बार कर सकते हैं. यहां हम आपको आधार से जुड़ी ऐसी ही कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में बताएंगे.

कितनी बार बनता है आधार
किसी भी नागरिक को उसके पूरे जीवन में केवल एक बार ही आधार नंबर जारी किया जाता है. 12 अंक का यह नंबर भारत में कहीं भी व्यक्ति की पहचान और पते का प्रमाण होता है. इसमें संबंधित व्यक्ति की जानकारी होती है. इसमें उसका नाम, माता-पिता का नाम, उम्र, पता आदि की जानकारी होती है. अगर इसमें नाम में कुछ गलतियां दर्ज कर दी गई हों तो आप इसे बदलवा सकते हैं. हालांकि, UIDAI ने इसकी सीमा तय कर दी है.

ये भी पढ़ें – 6 लाख डुप्‍लीकेट Aadhar हो गए रद्द, कहीं आपका आधार भी तो इनमें शामिल नहीं?

कितनी बार कर सकते हैं सुधार
UIDAI ने किसी भी आधार-कार्ड होल्डर के लिए एड्रेस बदलने के लिए सीमा तय कर रखी है. UIDAI के अनुसार कोई आधारकार्ड होल्डर जीवनभर में सिर्फ दो बार ही अपना एड्रेस बदल सकता है. साथ ही आधार में आप सिर्फ एक बार ही अपनी जन्मतिथि में बदलाव कर सकते हैं. आधार डेटा में आप बार-बार अपना नाम नहीं बदल सकते हैं. पूरे जीवन में आप आधार में सिर्फ एक बार जेंडर की जानकारी को अपडेट कर सकते हैं.

बदलाव के लिए रजिस्टर मोबाइल नंबर होना जरूरी
आधार में बदलाव के लिए आपके पास रजिस्टर मोबाइल नंबर का होना जरूरी है. आधार में किसी भी तरह के अपडेट को करने के लिए आपको UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. यहां आपको करेक्शन के लिए अप्लाई करना होगा. यहां आपको अपना रजिस्टर नंबर देना होगा. इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा. उसे भरें. लॉगइन होने के बाद होमपेज पर जाएं और प्रोसीड टू अपडेट आधार पर क्लिक करें. इसके बाद नया पेज खुलेगा. फिर नाम बदलें (Name change) विकल्प को चुनें और सपोर्टिंग डॉक्यूमेंट स्कैन करके अटैच कर दें. इसके बाद सबमिट करें और ‘ओटीपी सेंड करें’ विकल्प को चुनें. फिर आपके मोबाइल नंबर ओटीपी आएगा. उसे डालें. ओटीपी भरने के बाद आपका नाम बदलने का आवेदन सबमिट हो जाएगा.

Tags: Aadhaar Card, Aadhar card, Business news, Business news in hindi, Uidai

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर