Home /News /business /

how much do you need to invest monthly to get rupees 5 cr in 30 years abhs

30 साल में 5 करोड़ रुपये पाने के लिए आपको मंथली कितना निवेश करना चाहिए? जानिए निवेश मंत्र

पहले से फाइनेंसियल प्लानिंग कर अच्छी बचत कर सकते हैं.

पहले से फाइनेंसियल प्लानिंग कर अच्छी बचत कर सकते हैं.

वित्तीय लक्ष्य पूरा करने के लिए जीवन की शुरुआत में ही योजना बनानी चाहिए. इससे रिटायरमेंट की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते आप अच्छी रकम जमा कर सकते और उस पर अच्छा रिटर्न पा सकते हैं.

नई दिल्ली. मेरी उम्र 30 साल है और मैं हर महीने 90,000 रुपये कमाता हूं. मैं हाउसिंग लोन के लिए 20,000 और व्हीकल लोन के लिए 10,000 रुपये की ईएमआई जमा करता हूं. मैं फिलहाल राष्ट्रीय पेंशन स्कीम (NPS) में 16,000 रुपये का निवेश कर रहा हूं. निवेश की इस रकम में 10 फीसदी वार्षिक वृद्धि भी करता हूं. मैंने हाल ही में 5,000 रुपये का SIP भी शुरू किया है. मुझे 30 साल में 5 करोड़ रुपये पाने के लिए SIP में और कितना निवेश करना चाहिए? मैं एनपीएस में 6 साल से निवेश कर रहा हूं. मेरी 60 वर्ष की आयु पूरी होने पर इसकी परिपक्वता (maturity) वैल्यू क्या होगी?

अपने वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए जीवन की शुरुआत में ही योजना बनाना अच्छी बात है. यदि आप 30 साल की आयु में बचत करना शुरू करते हैं, तो आपको अगले 30 साल के लिए प्रति महीने 22,000 रुपये का निवेश होगा. इससे मूलधन (principal amount) के रूप में 79.2 लाख रुपये जमा हो जाएगा. यदि इस पर 10 फीसदी रिटर्न मानकर चलें, तो आप 5 करोड़ रुपये का लक्ष्य पा सकते हैं. इसमें समय के साथ निवेश की रकम में और वृद्धि पर विचार नहीं किया गया है.

कुल रकम 9 करोड़ रुपये से अधिक
एनपीएस मामले में यदि एनुअल इंक्रीमेंट जैसी स्थिति के बावजूद यदि निवेश की रकम नहीं बढ़ाई जाती है, तो भी 30 साल में प्रति महीने 16,000 रुपये जमा करने पर मूलधन 57.6 लाख रुपये जमा होगा. अर्निंग इंटरेस्ट 10 फीसदी मिलने की स्थिति में 30 साल में इसकी कुल वैल्यू 3.6 करोड़ रुपये हो जाएगी. इसी प्रकार एनुअल सेविंग के लिए 10 फीसदी की बचत दर के साथ मूल राशि (principal corpus) 3.15 करोड़ रुपये हो जाती है. 30 साल के अंत में 10 फीसदी एनुअल अर्निंग के साथ कुल रकम (net corpus) 9 करोड़ रुपये से अधिक हो जाएगी.

ये भी पढ़ें- RBI MPC Meeting : रिजर्व बैंक ने सस्‍ता बनाए रखा कर्ज, रेपो रेट में 11वीं बार भी बदलाव नहीं, रिवर्स रेपो रेट 40 आधार अंक बढ़ाया

ईपीएफ और पीपीएफ दोनों अकाउंट रख सकते हैं?
मैंने पब्लिक प्रोविडेट फंड (PPF) अकाउंट खुलवाया है. क्या मुझे इंप्लाई प्रोविडेंट फंड (EPF) में भी योगदान देना चाहिए?

ये भी पढ़ें- वरिष्ठ नागरिकों को एफडी पर अतिरिक्त ब्याज दर दे रहा यह बैंक, लेकिन जल्दी करें मौका हाथ से निकल न जाए

आप ईपीएफ और पीपीएफ दोनों अकाउंट रख सकते हैं. ईपीएफ अकाउंट सुविधा केवल कर्मचारियों के लिए है, जबकि पीपीएफ अकाउंट कोई भी खुलवा सकता है. पीपीएफ के जरिये स्वरोजगार करने वाले भी दीर्घकालीन लक्ष्य हासिल करने के लिए निवेश कर सकते हैं. इसमें भी रिटर्न अच्छा मिलता है. दोनों खातों में निवेश कर टैक्स भी बचाया जा सकता है.

Tags: Business news in hindi, Investment, NPS, PPF account

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर