लाइव टीवी

कभी 10 हजार रुपये से की थी जेट एयरवेज की शुरुआत, अब कंपनी से हो रहे हैं बाहर

News18Hindi
Updated: February 28, 2019, 8:15 PM IST
कभी 10 हजार रुपये से की थी जेट एयरवेज की शुरुआत, अब कंपनी से हो रहे हैं बाहर
नरेश गोयल ने 25 साल पहले जेट एयरवेज की नींव रखी थी. आज उनको अपनी कंपनी से बाहर होना पड़ रहा है.

नरेश गोयल ने 25 साल पहले जेट एयरवेज की नींव रखी थी. आज उनको अपनी कंपनी से बाहर होना पड़ रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2019, 8:15 PM IST
  • Share this:
कर्ज के तले हवाई सफर कराने वाली कंपनी जेट एयरवेज (Jet Airways) के चेयरमैन नरेश गोयल के चेयरमैन पद छोड़ने की खबरें आ रही है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक नरेश गोयल पद छोड़ने के लिए तैयार हो गए है. उन्होंने अपना वोटिंग अधिकार भी अधिकतम 10 फीसदी रखने की बात मान ली है. हालांकि, कंपनी की ओर से अभी तक कोई बयान नहीं जारी हुआ है. नरेश गोयल ने 25 साल पहले जेट एयरवेज की नींव रखी थी. आज उनको अपनी कंपनी से बाहर होना पड़ रहा है.

(ये भी पढ़ें: बैंक खाते से लिंक नहीं है PAN कार्ड तो होगा बड़ा नुकसान! कल से लागू होगा नया नियम)

1974 में शुरू की थी जेट एयरवेज
जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने बेहद कठिन परिस्थिति में अपनी मां के जेवर बेचकर ट्रैवल एजेंसी शुरू की थी. नरेश गोयल ने 1967 में अपनी मां के एक चाचा की एजेंसी में कैशियर के रूप में काम शुरू किया था. तब उन्हें 300 रुपए सैलरी मिलती थी. यहां काम करते हुए रॉयल जॉर्डन एयरलाइंस जैसे कई बड़ी कंपनियों में काम करने का मौका मिला. 1974 को उन्होंने अपनी ट्रैवल एजेंसी शुरू की और उसका नाम जेट एयरवेज रखा.



ये भी पढ़ें: कल से होंगे 6 बड़े बदलाव! आपके जीवन पर होगा सीधा असर



ट्रैवल एजेंसी शुरू करने के लिए नहीं थे पैसे
ट्रैवल एजेंसी शुरू करने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे. उन्होंने अपनी मां से बात की. मां ने अपने जेवर देकर कहा, इन्हें बेच दो. जेवर बेचने से उन्हें करीब 15 हजार रुपए मिले. उन्होंने 10 हजार रुपए से जेट एयर शुरू की.

साल 1991 के बाद जेट एयरवेज के लिए रास्ता खुलना शुरू हुआ. जब भारत सरकार ने ओपन स्काई पॉलिसी को हरी झंडी दी और नरेश गोयल ने इस मौके का फायदा उठाया और डोमेस्टिक ऑपरेशन के लिए 1993 में जेट एयरवेज की शुरुआत की. कंपनी लगातार अपने काम को बढ़ाती रही और एक वक्त पर जब कंपनी अपने शीर्ष पर थी तब नरेश गोयल देश के 20 सबसे अमीर शख्सियत में शुमार हुआ करते थे.

25 साल बाद देश की सबसे पुरानी प्राइवेट एयरलाइन जेट एयरवेज की कमान इसके फाउंडर नरेश गोयल के हाथों से निकल गई है. जेट पर बैंकों का 8,200 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2019, 7:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading