PMFBY: फसल बीमा प्रीमियम निकालने का ये है सबसे आसान तरीका, 31 जुलाई को है अंतिम तारीख

PMFBY: फसल बीमा प्रीमियम निकालने का ये है सबसे आसान तरीका, 31 जुलाई को है अंतिम तारीख
प्राकृतिक आपदा में फसल खराब होने के बाद फसल बीमा का है सहारा

कुल प्रीमियम का 1.5 से लेकर 5 फीसदी तक ही किसानों को देना होता है, इसमें कई सुधार भी हो गए हैं इसलिए फसल का बीमा करवाना आपके लिए फायदेमंद रहेगा, यहां जानें बीमा का प्रीमियम निकालने का तरीका

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 29, 2020, 10:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY-Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) में शामिल होने के लिए अब आपके पास सिर्फ दो दिन का समय शेष है. 31 जुलाई को इसकी अंतिम तारीख है और उसके बाद आप चाहकर भी इंश्योरेंस नहीं करवा पाएंगे. किसान आमतौर पर यह नहीं समझ पाते हैं कि आखिर कितने पैसे में उन्हें बीमा का लाभ मिलेगा. इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं प्रीमियम जानने का आसान तरीका. ज्यादातर फसलों पर आने वाले कुल प्रीमियम का 1.5 से 2 फीसदी तक ही किसान को देना होता है. कुछ वाणिज्यिक फसलों के लिए ही 5 फीसदी प्रीमियम तय है. शेष पैसा केंद्र और राज्य सरकार देते हैं.

प्रीमियम की रकम राज्यवार अलग-अलग होती है. जैसे यूपी में अलग और हरियाणा में अलग. हर फसल की इंश्योरेंस राशि अलग होती है. प्रीमियम की रकम जिला तकनीकी समिति की रिपोर्ट पर तय होती है. इस समिति में जिला कलेक्टर, जिला कृषि अधिकारी, मौसम विभाग के अधिकारी, किसानों के प्रतिनिधि और इंश्योरेंस कंपनी (Insurance companies)  के लोग शामिल होते हैं. हर फसली सीजन से पहले यह रिपोर्ट भेजी जाती है. इसके बाद इंश्योरेंस कंपनियां रिपोर्ट के आधार पर प्रीमियम तय करती हैं.

इसे भी पढ़ें: पानी से भी कम दाम पर बिक रहा गाय का दूध



अगर आपका घर यूपी के गोरखपुर में है तो 1 हेक्टेयर में धान की फसल पर किसान (Farmer) को 1319.32 रुपये का प्रीमियम देना होगा. आपका शेष पैसा 7836.76 रुपये केंद्र और राज्य सरकार मिलकर देंगे. इस प्रीमियम पर आपके एक हेक्टेयर धान का 65,966 रुपये का इंश्योरेंस होगा. इतने ही खेत का फसल बीमा यदि हरियाणा के फरीदाबाद में कोई किसान करवाता है तो 1680.3 रुपये देना होगा. जबकि बीमा होगा 84,015 रुपये का.
How to calculate PMFBY premium, Pradhan Mantri Fasal Bima scheme, crop insurance, kisan, farmers news, जानें अपना फसल बीमा प्रीमियम, प्रीमियम की गणना कैसे करें, प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना, किसान समाचार
ऐसे जानें फसल बीमा का प्रीमियम


कैसे निकालें प्रीमियम

इसके लिए आप सबसे पहले https://pmfby.gov.in/ पर जाना होगा.

-यहां पर आपको इंश्योरेंस प्रीमियम कैल्कुलेटर का कॉलम दिखेगा.

-इसे खोलने पर आपको छह कॉलम दिखेंगे.

-इसमें सीजन, वर्ष, स्कीम, राज्य, जिला और फसल का कॉलम भरेंगे.

-इसके बाद कैलकुलेट का बटन दबा देंगे. फिर प्रीमियम सामने आ जाएगा.

पीएम फसल बीमा में बड़े बदलाव

-फसल बीमा योजना के तहत किसानों को फसल बोने के दस दिनों के भीतर बीमा कराना होता है.

-बाढ़, बारिश, ओला या अन्य किसी प्राकृतिक आपदा (Natural Disasters) से यदि फसल को नुकसान पहुंचता है तो किसान को बीमा का लाभ दिया जाता है.

-अगर फसल कटने के 14 दिन बाद तक बारिश या किसी और वजह से फसल खराब हो जाए, तो बीमा का पैसा मिलेगा.

-फसल खराब होने की स्थिति में किसान बीमा कंपनी को सूचना देता है. अगर फसल खराब हुई है तो बीमा कंपनियां अपने प्रतिनिधियों के जरिए सर्वे करवाती हैं.

-अगर किसान बीमा कंपनी से संपर्क नहीं कर पाता है, तो किसान अपने नज़दीकी बैंक (Bank) या फिर अधिकारी को सूचना दे सकता है.

-बीमा को कृषि लोन (Agri Loan) लेने वालों के लिए स्वैच्छिक कर दिया गया है.

How to calculate PMFBY premium, Pradhan Mantri Fasal Bima scheme, crop insurance, kisan, farmers news, जानें अपना फसल बीमा प्रीमियम, प्रीमियम की गणना कैसे करें, प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना, किसान समाचार
प्रीमियम जानने के लिए इसे भरें


कहां होगा बीमा?  

-प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अगर ऑफलाइन फार्म भरना चाहते हैं तो  नजदीकी बैंक जाईए.

-ऑनलाइन भी फॉर्म भरा जा सकता है. फॉर्म ऑनलाइन भरने के लिए आप स्कीम की वेबसाइट पर जा सकते हैं.

ये भी पढ़ें: ...तो बिहार में किसानों की आय सबसे कम और पंजाब में सबसे ज्यादा क्यों है?




किन दस्तावेजों की है जरूरत?

-किसान की एक फोटो आईडी

-किसान का एड्रेस प्रूफ

-खेत आपका अपना है तो इसका खसरा नंबर/ खाता नंबर का पेपर.

-खेत में फसल की बुवाई हुई है, इसका सबूत पेश करना होगा. इसके सबूत के तौर पर किसान पटवारी, सरपंच, प्रधान जैसे लोगों से एक पत्र लिखवा सकते हैं.

-अगर खेत बटाई या किराए पर लेकर फसल की बुवाई की गई है, तो खेत के मालिक के साथ करार की फोटोकॉपी.

फसल को नुकसान होने की स्थिति में पैसा सीधे आपके बैंक खाते में पाने के लिए एक रद्द चेक लगाना जरूरी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading