Home /News /business /

how to create an education corpus for your child with beating inflation in long term prdm

एक तरफ महंगाई तो दूसरी ओर बच्‍चों की पढ़ाई, कैसे भविष्‍य के लिए बनाएं प्‍लान और कहां-कितने निवेश में चल जाएगा काम

लंबी अवधि में इक्विटी म्‍यूचुअल फंड पर 12 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है.

लंबी अवधि में इक्विटी म्‍यूचुअल फंड पर 12 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है.

महंगाई की पीछे की ओर नहीं जाती है और खासतौर से एजुकेशन की महंगाई दर तो सबसे ज्‍यादा तेजी से भाग रही है. अगर आज किसी उच्‍च शिक्षा पर 25 लाख रुपये का खर्च आ रहा है तो 18 साल बाद यह राशि बढ़कर करीब सवा करोड़ पहुंच जाएगी. आपको भी निवेश करते समय महंगाई के इस चक्र का ध्‍यान रखना होगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. बढ़ते खर्च और महंगाई के बीच आज अपने बच्‍चों को अच्‍छी शिक्षा दिलाना भी किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है. बच्‍चों की उच्‍च शिक्षा को लेकर जितनी चिंता मां-बाप को रहती है, उतनी ही उस पढ़ाई पर आने वाले खर्च को लेकर भी होती है.

हालांकि, एक बेहतर वित्‍तीय प्रबंधन के जरिये आप आज कुछ रकम का निवेश कर बच्‍चे की उच्‍च शिक्षा के लिए बड़ी राशि जमा कर सकते हैं. म्‍यूचुअल फंड ऐसे विकल्‍प मुहैया कराता है जहां आप हर महीने छोटी राशि के जरिये लंबी अवधि में बड़ा कॉर्पस (corpus) तैयार कर सकेंगे. हालांकि, इस तैयारी की राह में सबसे बड़ा रोड़ा महंगाई होगी जो दिन प्रति‍दिन बढ़ती ही जा रही है. एक्‍सपर्ट के हवाले से हम आपको बता रहे हैं कि कई साल बाद आप अपने बच्‍चे की पढ़ाई का खर्च उठाने की तैयारी आज से ही कैसे शुरू कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें – महंगाई डायन खाए जात है! तीन महीने में 10 फीसदी बढ़ गया घर का खर्च, महंगे पेट्रोल-डीजल आगे और बोझ बढ़ाएंगे!

सबसे पहले तय करें लक्ष्‍य और समय
निवेश सलाहकार बलवंत जैन का कहना है कि किसी भी मां-बाप को सबसे पहले यह देखना चाहिए कि आपका बच्‍चा अभी कितना बड़ा है और उसके हायर एजुकेशन तक पहुंचने में अभी कितना समय बाकी है. मान लीजिए, आपने अपने बच्‍चे के लिए कुछ जल्‍दी ही तैयारियां शुरू कर दी हैं और अभी उसकी उम्र महज दो साल है. ऐसे में हायर एजुकेशन तक पहुंचने तक उसकी उम्र 20 साल हो जाएगी. इस तरह देखा जाए तो आपके पास अपने लक्ष्‍य के लिए पैसे जुटाने का 18 साल का वक्‍त है.

अब तय करें कि कितने कॉर्पस की जरूरत होगी अपने बच्‍चे को उच्‍च शिक्षा दिलाने के लिए. इसके लिए आपको हर साल की औसत महंगाई को ध्‍यान में रखते हुए खर्च की अनुमानित राशि निकालनी होगी.

ये भी पढ़ें – World Bank ने जताई आर्थिक मंदी की आशंका, इन वजहों से बढ़ेगा ग्लोबल संकट

महंगाई से तय करें कितनी रकम की जरूरत
ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्‍टर संदीप जैन का कहना है कि बच्‍चों की पढ़ाई के लिए बड़ा कॉर्पस तैयार करना है तो सबसे पहले महंगाई के सापेक्ष लंबी अवधि में जरूरत पड़नी वाली अनुमानित राशि को तय करें. मान लीजिए कि अभी आपका बच्‍चा 2 साल का है और उसके 20 साल होने पर आपको उच्‍च शिक्षा के लिए पैसों की जरूरत होगी, ऐसे में आपके पास करीब 18 साल का समय है.

अब इन 18 साल में महंगाई दर 5.5 फीसदी की दर से बढ़ रही है तो आज खर्च होने वाली 25 लाख की रकम 18 साल बाद करीब 1.25 करोड़ रुपये हो जाएगी. इसका मतलब हुआ कि आज किसी पढ़ाई पर आने वाला 25 लाख का खर्च 18 साल बाद 1.25 करोड़ का हो जाएगा.

ये भी पढ़ें – जेपी मॉर्गन को खूब भा रहा है Rakesh Jhunjhunwala के पोर्टफोलियो में शामिल यह मेटल स्‍टॉक

ऐसे शुरू करें म्‍यूचुअल फंड का सिप
अब जबकि आपको यह पता चल चुका है कि आपके पास समय कितना है और आपको कितने पैसों की जरूरत होगी. ऐसे में आज अपना निवेश लक्ष्‍य बनाना आसान हो जाएगा. अगर आप म्‍यूचुअल फंड के सिप में हर महीने 25,000 रुपये का निवेश करते हैं और 18 साल तक आपको 12 फीसदी का सालाना रिटर्न मिलता है तो मेच्‍योरिटी पर कुल 1.91 करोड़ रुपये का कॉर्पस तैयार हो जाएगा.

इससे पता चलता है कि इन 18 वर्षों में आपकी ओर से कुल निवेश की गई राशि महज 54 लाख रुपये होगी, जिस पर 12 फीसदी ब्‍याज दर के हिसाब से 1.37 करोड़ रुपये का सिर्फ ब्‍याज मिल जाएगा. यह राशि आपके बच्‍चे के पढ़ाई के खर्च सहित अन्‍य सभी जरूरी खर्चों के लिए पर्याप्‍त होगी. इसी तरह, आप अपने लक्ष्‍य और क्षमता के हिसाब से बच्‍चे की पढ़ाई के लिए भविष्‍य की राशि जुटा सकते हैं.

Tags: Inflation, Investment and return, Returns of mutual fund SIPs

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर