Home /News /business /

how to file your itr when you change your job between the financial year prdm

ITR FILING : क्‍या आपने भी बदली है नौकरी? कैसे भरना होगा दो कंपनियों से हुई कमाई पर अपना आयकर रिटर्न?

आयकर रिटर्न भरने की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2022 है.

आयकर रिटर्न भरने की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2022 है.

आयकर विभाग ने वित्‍तवर्ष 2021-22 का रिटर्न भरने की अंतिम तिथि व्‍यक्तिगत करदाताओं के लिए 31 जुलाई तय कर दी है. आपको समय से पहले रिटर्न भरने की कोशिश करनी चाहिए और इसके लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दें. नौकरीपेशा हैं तो कंपनी से फॉर्म 16 मंगा लें. अगर नौकरी बदली है तो दोनों जगह से फॉर्म 16 लेने का प्रयास करें.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. आयकर विभाग ने वित्‍तवर्ष 2021-22 का रिटर्न भरने की अंतिम तारिख तय कर दी है. व्‍यक्तिगत करदाताओं को 31 जुलाई तक हर हाल में अपना इनकम टैक्‍स रिटर्न (ITR) करना होगा.

वैसे तो नौकरीपेशा को रिटर्न भरने में खासी मुश्किल नहीं आती लेकिन अगर आपने वित्‍तवर्ष के दौरान नौकरी बदली है तो रिटर्न भरने की तैयारी जरा दूसरे तरीके से करनी होगी. दरअसल, नौकरी बदलने पर आपको एक ही वित्‍तवर्ष में दो संस्‍थानों से सैलरी मिलती है. इसका मतलब हुआ कि आपको दो जगहों से मिल रहे वेतन का ब्‍योरा अपने आयकर रिटर्न में अन्‍य डिटेल के साथ शामिल करना होगा.

ये भी पढ़ें – CBDT का नया नियम! आय कम होने पर भी कुछ लोगों को भरना होगा ITR, कहीं आप भी तो नहीं इनमें शामिल?

फॉर्म 16 है सबसे जरूरी डॉक्‍यूमेंट
नौकरीपेशा के लिए अपना आयकर रिटर्न भरने में सबसे जरूरी डॉक्‍यूमेंट है फॉर्म 16. इसे आपकी कंपनी या नियोक्‍ता की ओर से जारी किया जाता है. कंपनियों के लिए वैसे तो 15 जून तक हर हाल में अपने कर्मचारियों को फॉर्म 16 जारी कर देना होता है. इसमें आपके वेतन कमाई की पूरी जानकारी होने के साथ कंपनी की ओर से काटे गए टीडीएस का भी ब्‍योरा होता है. इसके लिए एचआरए, 80सी के तहत मिली छूट और स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन का भी ब्‍योरा आपको फॉर्म 16 से मिल जाएगा.

क्‍या आपको मिला अपना फॉर्म 16
जैसा कि ऊपर बताया गया है कि कंपनियों के लिए अपने कर्मचारियों का फॉर्म 16 हर हाल में 15 जून तक जारी करना जरूरी होता है. आपकी नई कंपनी या मौजूदा नियोक्‍ता तो इसे तय समय पर उपलब्‍ध करा देगा, लेकिन हो सकता कि पुरानी कंपनी ने इसे भेजने में देर लगाई हो. बेहतर होगा कि आप जल्‍द से जल्‍द अपनी पुरानी कंपनी को मेल अथवा फोन करके बीते वित्‍तवर्ष का फॉर्म 16 मंगा लें.

ये भी पढ़ें – PAN-Aadhar Link: पैन-आधार लिंक करने के लिए सिर्फ 6 दिन बाकी, जुर्माने के साथ होंगे कई सारे नुकसान

फॉर्म 16 मिलने पर क्‍या करें
सबसे पहले तो आप दोनों कंपनियों से आए फॉर्म 16 को अच्‍छी तरह से चेक करें. आप दोनों कंपनियों से हुई कमाई को जोड़ लें. इसके पार्ट बी में आपकी कुल सैलरी का ब्‍योरा रहता है, जिसमें टैक्‍स छूट के लिए किए गए दावे और टैक्‍स के दायरे से बाहर रहने वाले अलाउंस भी शामिल होंगे. आप दोनों फॉर्म 16 के एचआरए और एलटीए को जोड़ लें, साथ ही अन्‍य कोई टैक्‍स छूट वाले विकल्‍प हों तो उसकी राशि भी जोड़ लें. इससे आपको यह पता चलेगा कि कितनी राशि पर टैक्‍स छूट मिल सकती है. आयकर विभाग की ओर से आपको हर साल 50 हजार रुपये का स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन का भी लाभ मिलता है.

नहीं मिला है फॉर्म 16 तो…
अगर किसी कर्मचारी को कंपनी की ओर से फॉर्म 16 नहीं मिला है तो भी वह अपना आयकर रिटर्न भर सकता है. इसके लिए बस सैलरी स्लिप की जरूरत होगी. सैलरी स्लिप के आधार पर आप सालभर में मिली अपनी कुल सैलरी को जोड़कर टैक्‍सलेबल अमाउंट निकाल सकते हैं. इसमें अन्‍य स्रोत से हुई कमाई को शामिल कर अपना रिटर्न भर सकते हैं.

Tags: Income tax, Income tax exemption, ITR, ITR filing

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर