Franklin Templeton India की बंद म्युचूअल फंड्स स्कीम्स में कब और कैसे मिलेगा 30 हजार करोड़ रुपये पैसा वापस? यहां जानिए

Franklin Templeton India की बंद म्युचूअल फंड्स स्कीम्स में कब और कैसे मिलेगा 30 हजार करोड़ रुपये पैसा वापस? यहां जानिए
Franklin टेम्पल्टन म्युचूअल फंड्स स्कीम से कैसे और कब निकाल सकते हैं पैसा

फ्रेंकलिन टेम्पल्टन (Franklin Templeton India) की 6 म्युचूअल फंड्स स्कीम में निवेशकों का 30 हजार करोड़ रुपये फंस गया है. अब सवाल उठता है कि ये कैसे और कब वापस मिलेगा?

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2020, 1:16 PM IST
  • Share this:
मुंबई. फ्रेंकलिन टेम्पल्टन (Franklin Templeton India) के प्रेसिडेंट संजय सप्रे ने  कहा- कोरोना वायरस (Coronavirus)  महामारी की वजह से बॉन्ड मार्केट से लिक्विडिटी (नकदी की कमी) लगभग खत्म हो गई है. डेट सिक्योरिटीज का यील्ड बहुत बढ़ गया है जिसकी वजह से कंपनियां अब इसे जारी नहीं रख पा रही हैं. म्यूचुअल फंड पर रीडम्पशन का दबाव ज्यादा है क्योंकि लॉकडाउन की वजह से निवेशक अपना पैसा निकालना चाहते हैं. इसीलिए इन स्कीम्स को रोकने का फैसला किया है.

फ्रैंकलिन टेम्पल्टन ने फिलहाल स्कीम में सब्सक्रिप्शन और रीडम्पशन यानी निवेश करने या पैसा निकालने पर पाबंदी लगा दी है, लिहाजा आपकी SIP भी अपने आप बंद हो जाएगी. आपको बता दें कि निवेशकों का 30 हजार करोड़ रुपये का फंस गया है.

फिलहाल निवेशकों को इंतजार करना होगा. उनके स्कीम को पूरा होने में जितना वक्त बाकी होगा, उतने दिन उन्हें इंतजार करना होगा. सामान्य तौर पर निवेशक इमरजेंसी में कुछ पेनाल्टी देकर स्कीम से बाहर निकल सकते थे लेकिन अब ऐसा नहीं कर सकते.



मान लीजिए किसी ने Franklin India Low Duration Fund में निवेश किया है जिसकी मेच्योरिटी में अभी 1.2 साल है. तो अब निवेशकों अपना पैसा वापस लेने के लिए एक साल 73 दिन का इंतजार करना होगा.
अब सवाल उठता है कि निवेशक कब अपना पैसा निकाल पाएंगे?

फ्रेंकलिन टेम्पल्टन (Franklin Templeton India) के प्रेसिडेंट संजय सप्रे ने एक कॉन्फ्रेंस कॉल के जरिए बताया कि जिन 6 स्कीम्स को बंद कर दिया है निवेशक फिलहाल उससे अपना पैसा नहीं निकाल पाएंगे. उन्हें तब तक इंतजार करना होगा जब तक उस स्कीम की अवधि होगी.

मान लीजिए किसी ने एक साल के लॉकइन पीरियड में वाले स्कीम में निवेश किया है तो उसे कम से कम एक साल का इंतजार करना ही होगा.



ये भी पढ़ें-म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर, बंद हो जाएंगी ये 6 स्कीम, अब क्या करें निवेशक

अगर आसान शब्दों में समझें तो जिन लोगों ने फ्रैंकलिन इंडिया के इनकम ऑपर्च्यूनिटी फंड में 3.22 साल के लिए निवेश किया था. उन्हें अपना पैसा निकालने के लिए 3 साल 80 दिन का इंतजार करना होगा.

सप्रे का कहना है, इन फंड्स में निवेशकों ने लॉन्ग टर्म के लिए पैसा लगाया था तो उन्हें इंतजार करने में मुश्किल नहीं होगी. इन डेट फंड को लिक्विडेट होने (बेचने) में वक्त लगेगा.

सप्रे ने यह भी कहा कि टेम्पल्टन कोशिश करेगा कि जितनी जल्दी हो सके वह पोर्टफोलियो को लिक्विडेट कर सके.

उन्होंने कहा, फ्रैंकलिन टेम्पल्टन भरोसा दिलाता है कि इससे जो पैसा मिलेगा उससे छोटे-बड़े निवेशकों का समान अनुपात में किस्तों में पैसा वापस कर दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि 24 अप्रैल से फंड कोई मैनेजमेंट फीस नहीं लेगा. इस बीच दूसरे स्कीम चलते रहेंगे.

ये भी पढ़ें-फ्रेंकलिन के बाद दूसरी म्यूचुअल फंड्स स्कीम में पैसा लगाने वालों को क्यों नहीं घबराना चाहिए?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading